निशानेबाजी में करियर कैसे बनाये। 2021 पूर्ण जानकारी। How to become a Shooter in Hindi

नमस्कार पाठकों, आज का यह लेख एक खेल के लिए समर्पित होगा, वह अंतर्राष्ट्रीय खेल जो ओलंपिक खेलो की जान है तथा सबसे महंगे खेलों में गिने जाने वाला एक खेल है जी हाँ आज हम बात करेंगे निशाने बाजी के बारे में कि एक निशानेबाज कैसे बने, एक निशानेबाज बनने के लिए क्या क्या करना पड़ता है, क्या पढाई करनी पड़ती है तथा कहा कोचिंग लेनी पड़ती है, अगर अप भी अपने देश का नाम पूरे विश्व में रोशन करना चाहते है तो आपको यह आर्टिकल जरूर पढना चाहिए।

आज के इस लेख में आपको निशानेबाजी से संबंधित सारी जानकारी दी जाएगी।

निशानेबाजी क्या होती है

यह एक ऐसा खेल होता है जिसे खेलने के लिए बन्ढूकों की आवश्यकता होती है। यह कोई साधारण बंदूके नहीं होती, निशानेबाजी के लिए विशेष बंदूके होती है जिनका लाइसेंस केवल निशानेबाजों को ही दिया जाता है।

एक निशानेबाजी के खेल में बंदूकों या राइफल के जरिये बंदूकबाज को एक निशाने पर निशाना लगाना होता है। उसी प्रकार यदि उदहारण दिया जाये तो 2008 में अभिनव बिंद्रा ने ओलंपिक्स में शूटिंग में सोना जीत कर पूरे देश का नाम रोशन किया था और उसके बाद से सूटिंग को लेकर पूरे भारत में ही इसका प्रचलन और पागलपन बढ़ गया। इस खेल में महारथ हासिल करने के लिए आपमें दृढ निश्चय के साथ साथ लगन की भी एक भरपूर मात्रा होनी चाहिए।

वैसे तो यह एक बहुत महंगा खेल है जिसे सीखने मात्र में आपके लाखों रुपये लग सकते है लेकिन अगर आप के पास इतने पैसे नहीं है और आप फिर भी यह खेल सीखना चाहते हो तो NCC के जरिये सीधे आप यह खेल सीखकर भारतीय सेना की तरफ से ओलंपिक में अपने देश का प्रतिनिधित्व कर सकते हो।

उदाहरण के लिए केंद्रीय मंत्री श्री राज्यवर्धन सिंह राठोड ने भी भारतीय सेना में रहते हुए शूटिंग सीखी और ओलंपिक में देश को रजत पदक दिलवाया।

इसे भी पढ़े:- फैशन डिज़ाइनर कैसे बने?

इसे भी पढ़े:- फ्रीलांसर पत्रकार कैसे बने

इसे भी पढ़े:- बॉक्सिंग में करियर कैसे बनाये

इसे भी पढ़े:- IAS officer Kaise Bane

Shooter kaise bane

शूटिंग/निशानेबाजी कितने प्रकार की होती है

शूटिंग साधारण तौर पर तीन प्रकार की होती है,

  1. पिस्टल की निशानेबाजी
  1. राइफल की निशानेबाजी
  1. शॉटगन की निशानेबाजी

पिस्टल में होने वाले इवेंट्स

  • पिस्टल में होने वेक इवेंट्स में से एक है 50 मीटर रेंज की जो पुरुषों के लिए है जिसमे दो बार में 60 और 20 राउंड फायर करना होता है।
  • पिस्टल में 50 की रेंज की मीटर पुरुषों के लिए है और इसमें 60+20 राउंड गोली चलानी होती हैं।
  • 25 मीटर की रेंज का इवेंट लड़कियों के लिए है और इस इवेंट में रैपिड फायर में पहली बार में 30 और दूसरी बार में 30 गोलियां फायर करनी होती हैं।
  • 25 मीटर रेंज की रैपिड फायर में एक शूटर को पांच निशानों पर अलग अलग टाइम के बीच गोली दागनी होती है। यह इवेंट पुरुषों के लिए है।
  • 25 मीटर रेंज की सेंटर फायर भी पुरुषों के लिए आयोजित किये जाने वाला इवेंट है जिस इवेंट में दो राउंड में 60 गोलियां निशाने पर दागनी होती हैं।
  • 25 मीटर रेंज स्टैंडर्ड पिस्टल में भी पुरुषों के लिए ही आयोजन होता है। इस इवेंट में 3 राउंड में अलग-अलग समय में 20 राउंड गोली को निशाने पर दागनी होती हैं।
  • 10 मीटर की रेंज में हवाई फायर पिस्टल में पुरुषों को 60 गोलिया और महिलाओं को 40 गोलिया चलानी होती हैं।

राइफल में होने वाले इवेंट

  • 50 मीटर रेंज में अलग अलग अवस्थाओ में गोलिया फायर करनी होती है जिसमे घुटना टेक कर और लेट कर और खड़ा होकर पुरुषों को तो दो बारी में 40-40 तथा महिलाओं को 20-20 राउंड की गोलिया फायर करनी होती है ।
  • 50 मीटर रेंज में राइफल प्रोन में लेटकर 60 बार निशाने पर गोलिया चलानी होती हैं।
  • 10 मीटर रेंज में एयर राइफल इवेंट में खड़े होकर शूटिंग करनी होती है। जहा पर पुरुषों को 60 राउंड तथा महिलाओं को 40 राउंड की गोलियां चलानी होती हैं।

शॉटगन के जरिये होने वाले इवेंट्स

  • ट्रैप में निशानेबाज को निशाने पर बंदूक सीधी रखकर गोली फायर करनी होती है।
  • डबल ट्रैप में निशानेबाज को दो नकली चिड़ियों पर निशाना साधना होता है।
  • स्कीट में दो अलग दिशाओ से नकली चिड़िया उड़ाई जाती है जिनपर निशानेबाज को निशाना साधना होता है।

निशानेबाजी की शुरुआत कहा से करे

  • निशानेबाजी की शुरुआत कम-से-कम तेरह साल की उम्र में की जाती है। इसमें वजन भी उठाना पड़ता है जिससे बन्दूक चलते समय आपके हाथ न कांपे और आपका हाथ डगमगाए नहीं, इसलिए हड्डियों का सुदृढ़ होना जरूरी होता है। कम उम्र में शुरु करने पर कच्ची उम्र के  निशानेबाज के विकास पर बुरा असर पड़ सकता है।
  • दूसरा इस खेल में बंदूकों का इस्तेमाल होता है। 13-14 वर्ष में बच्चों की बुद्धि थोड़ी विकसित हो जाती है। अतः उन्हें हथियार चलाने दिया जा सकता है। लेकिन अधिकतम उम्र की कोई बाउंडेशन नहीं है। एक शूटर के लिए शारीरिक रूप से मजबूत होना ज्यादा जरूरी होता है।

निशानेबाजी के खतरे

  • यह सबसे सुरक्षित खेलों में से एक है। सारे खिलाड़ी एक लाइन में खड़े होकर निशाना लगाते हैं और किसी को भी शूटिंग की सीमा में शूटिंग पॉइंट से आगे जाने की अनुमति नहीं होती है।
  • खिलाडी बिना अनुमति अपनी बन्दूक को पैक भी नहीं कर सकते है। आयोजन के बाद कोच जांच करते हैं कि बन्दूक में कोई बुलेट फंसी न हो। उनसे अनुमति मिलने के बाद ही निशानेबाज अपनी बन्दूक को किट में पैक करते हैं।
  • हालांकि इसकी गोलियों से जान जा सकने का खतरा तो होता ही है इसलिए थोड़ी अधिक ही सावधानी बरतनी जरूरी है।

सिलेक्शन कैसे होता है

  • इस खेल में प्लेयर का चुनाव पूरी तरह मेरिट पर होता है। यह पूरी तरह तकनीक पर आधारित खेल है। आपने जो निशाना लगाया, वह तुरंत कंप्यूटर पर अंकित हो जाता है। भाई-भतीजावाद की संभावना नहीं होती।
  • अगर आपने खेल के नियमो के अनुसार आपने निशाने को भेदा है तो आपका चुनाव हो जाता है इसमें खेल के दौरान हुए निशानेबाजी का रिजल्ट कंप्यूटर द्वारा प्रकाशत कर दिये जाते हैं।

इसे भी पढ़ें :- पक्षी वैज्ञानिक में करियर कैसे बनाये

इसे भी पढ़ें :- बिज़नस एनालिस्ट में करियर कैसे बनाये

इसे भी पढ़ें :- Pilot कैसे बने

इसे भी पढ़ें :- फैशन डिज़ाइनर कैसे बने

इसे भी पढ़ें :- Animator kaise bane

खेल का सामान व उनकी कीमत

  • इस खेल में काम में आने वाली किट, दूसरे खेलों की तुलना में महंगी तो होती है जैसे अगर कोई भी राइफल इवेंट की शुरुआत करता है तो उसे इनर्स, गलव्स, ट्राउजर, जैकेट, शूज लेने पड़ते हैं, जोकि कुल 60,000-70,000 रुपये में आते हैं। राइफल की खुद की कीमत ही 2.5 से लेकर 10 लाख रुपये तक होती है।
  • पिस्टल में शूज व पिस्टल लेने पड़ते हैं। पिस्टल ही खुद 4,00,000 – 5,00,000 तक और शूज 15 हजार रुपये तक में आ जाते हैं।
  • इसके आलावा शॉटगन डायरेक्ट शूटर को नहीं मिलती, इसके लिए स्टेट असोसिएशन के जरिये प्लेयर्स को ही दी जाती है। यह मैच के तुरंत बाद वापस ले भी ली जाती है। इसकी कीमत 8,00,000-12,00,000 रुपये तक होती है। इसमें सिर्फ एक जैकेट ही होती है, जो 9000 रुपये तक की आती है।
  • तो ये सब खर्चा एक निशानेबाज को उठाना पड़ सकता है जिसके लिए उन्हें तैयार रहना चाहिए और इतने खर्चे से बचना हो तो भारतीय सेना को भी ज्वाइन किया जा सकता है।

निष्कर्ष

तो आज के लेख में हमने जाना की एक निशानेबाज कैसे बने तथा इसके लिए किन किन चुनौतियों का सामना एक खिलाड़ी को करना पड़ सकता है। अगर आप इस लेख से सम्बंधित कुछ और जानना चाहते है या हमे कोई सुझाव देना चाहते है तो हमे कमेंट करके जरूर बताये हमे आपके कमेंट का जवाब देने मे ख़ुशी होगी

अगर आपको हमारा लेख पसंद आया तो आप इसे अपने मित्रों तक जरूर शेयर करे।

धन्यवाद

22 thoughts on “निशानेबाजी में करियर कैसे बनाये। 2021 पूर्ण जानकारी। How to become a Shooter in Hindi”

  1. Pingback: Accountant कैसे बने ? शुरुवात कैसे करे.Golden Rules of accounting

  2. Pingback: बॉक्सिंग में करियर कैसे बनाये? 2021 पूरी जानकारी, Boxer कैसे बने

  3. Pingback: राज्यसभा के मेंबर कैसे बने 2021 पूर्ण जानकारी -क्या हैं फायदे

  4. Pingback: हड्डियों के डॉक्टर मे करियर कैसे बनाये। हड्डियों के डॉक्टर की क्या इनकम होती हैं।

  5. Pingback: Hacker kaise bane 2021 पूर्ण जानकारी हैकर कौन होता हैं

  6. Pingback: डेटा साइंटिस्ट में करियर कैसे बनाये २०२१ पूर्ण जानकारी - डेटा साइंटिस्ट सैलरी

  7. I am 21 year old.I started learn about pistol shooting from July 2021 in prayagraj.mai 2024 Olympic ke liye participate karna chahta hu agar mera performance achha raha to kya mai 3 years me Olympic me ja sakta hu.mera sapna hai ki mai india ke tarf se khelte hue pistol shooting me 2024 ke Olympic me gold medal lau.please mujhe bataye kya mai 3 years me uss level tak pahuch sakta hu.

    1. सबसे पहले तो आपके इस जज्बे को सलाम क्युकी जो हम सोच सकते है वो हम कर सकते है. बस खुद पे भरोसा रखना। उज्जवल भविष्य के लिए सुभकामनाये

  8. Pingback: Foreigh Language kaise seekha in india? best career after 12th

  9. sourabh verma

    Main abhi 28 saal ka hu, aur muje shooting me interest hai, aur me isme india ko represent krna chahta hu aur medal b jitna chahta hu, to kya me is umar me b ise sikh k aage badh skta hu, mehnat krne me koi kmi ni chhodunga, ise sikhne me kitna kharch lag skta hai

    1. ap 2024 ka olympic shooting k liye tayaari kar skte hai or iski fees thodi jyada hoti h,iska liye apna saher ki koi academy join kr skte hai, apko ujjwal bhavishya k liye subhkaamnaiya

      1. aaditya manik

        Good morning sir ji ,, mera naam aaditya msnik h me khandwa dist. mp se hu ,, mujhe bhi join krni h lekin kya bina koi acedmy join kiye state lavel me ja skta hu

  10. Pingback: कैरम का चैंपियन कैसे बने 2021 पूर्ण जानकारी - कैरम खेल के नियम

  11. Pingback: Digital Marketing में करियर कैसे बनाये 2021 पूरी जानकारी ?

  12. Pingback: IAS officer Kaise Bane। syllabus or qualifications - 2021

  13. Pingback: Olympic खेल क्या है। 2021 पूर्ण जानकारी Olympic GAME में करियर कैसे बनाये -

  14. Pingback: Graphics designer कैसे बने? Graphic designer kaise bnte hai?

  15. Pingback: ITI में करियर कैसे बनाये 2021 पूर्ण जानकारी। ITI Course kya hota hai। लड़कियों के लिए आईटीआई कोर्स

  16. Pingback: OBC Bill kya hai।2021 पूरी जानकारी हिंदी में । OBC Full Form

  17. Pingback: PM kisan samman nidhi yojna Kya hai । 2021 Full jankaari in hindi

  18. Pingback: English book padhna kaise seekhe 2021 पूर्ण जानकारी। इंग्लिश कैसे सीखे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *