प्राइमरी मास्टर का करियर कैसे बनाये – 2021 पूर्ण जानकारी

नमस्कार पाठकों, आज के इस लेख में हम एक ऐसे करियर फील्ड की बात करेंगे और विस्तृत चर्चा करेंगे जिसमे जाने के लिए भारत में ही देखे तो करोड़ों लोग बेसब्री से इंतज़ार करते है। वह प्रोफेशन जो किसी भी देश के भविष्य को एक दिशा देता है जिनके उपकारों के वजह से एक देश एक राष्ट्र उन्नत बनता है। जिस प्रोफेशन के वजह से करोड़ों जिन्दगिया आबाद होती है। जी हाँ आज हम बात करेंगे एक अध्यापक के बारे में।

आज के लेख में हमारा ध्यान यह जाने के लिए केन्द्रित होगा कि एक प्राइमरी का मास्टर कैसे बने, कब से तैयारी शुरू करनी पड़ती है, कहा तक पढाई करनी पड़ती है, कितनी मेहनत लगती है योग्यता के मापदंड क्या है। उनके कार्य क्या होते है, उनकी तनख्वाह से लेकर उनके दायित्व तक, आज के लेख में हम विस्तृत रूप में इसके बारे में जानकारी लेंगे।

तो चलिए शुरू करते है-

इसे भी पढ़े :- Web developer कैसे बने

इसे भी पढ़े :- Animator कैसे बने

प्राइमरी स्कूल मास्टर के कार्य

  • एक प्राइमरी स्कूल मास्टर का काम 1 से लेकर के 5वीं तक के बच्चों को पढ़ना होता है, यदि सरकारी स्कूल की बात करी जाए तो वहा एक व्यवस्थित ढंग से प्राइमरी टीचर की नियुक्तिया होती है।
  • भारतीय संविधान के आर्टिकल 21-A के अंतर्गत देश के हर नागरिक को मुफ्त में प्राइमरी शिक्षा का हक़ दिया जाता है और इस हक को देने के लिए भारत सरकार समय समय पर प्राइमरी स्कूल शिक्षकों की भर्ती करती है। और इन्टरनेट, अख़बार, या और किसी सूचना के माध्यम से सरकार इसकी जानकारी पहले ही लोगों तक पहुंचा देती है।
प्राइमरी का मास्टर कैसे बने

एक प्राइमरी स्कूल मास्टर बनने के लिए अनिवार्य योग्यताये

  • सबसे पहले तो आप एक ग्रेजुएट होने चाहिए(कम से कम 50% हर विषय में)।
  • उसके बाद आपके पास D। El। Ed।(डिप्लोमा ऑफ़ एलेमेंट्री एजुकेशन) या BTC(बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट) का दस्तावेज होना चाहिए।
  • उसके बाद आपके पास में TET या CTET का सर्टिफिकेट होना चाहिए जो बताता है की आप पढ़ने योग्य है।
  • बाद में आपको वह शिक्षक भर्ती परीक्षा उत्तीर्ण करनी है।

डिप्लोमा ऑफ़ एलेमेंट्री एजुकेशन का कोर्स क्या होगा?

  • यह कोर्स 2 साल का होगा और इस कोर्स में आपको 4 सेमेस्टर जो 6-6 महीने के होंगे, आपको शिक्षक बनने के लिए शिक्षित किया जायेगा।
  • इसके पहले सेमेस्टर में आपको बाल विकास एवं सीखने की प्रक्रिया के बारे में बताया जायेगा, शिक्षा अधिगम के सिद्धातों के बारे में जानकारी दी जाएगी, सामाजिक अध्ययन, संस्कृत, हिंदी, गणित, विज्ञान व कंप्यूटर की शिक्षा दी जाएगी तथा कला/संगीत/शारीरिक शिक्षा के बाद, इंटर्नशिप भी करवाई जाएगी।
  • इसके दूसरे सेमेस्टर में वर्तमान भारतीय समाज एवं प्रारंभिक शिक्षा के बारे में गहरी जानकारी दी जाएगी, प्रारंभिक शिक्षा के नवीन प्रयास जैसे विषय आपको पढाये जायेंगे, सामाजिक अध्ययन, विज्ञान, गणित, हिंदी, अंग्रेजी, समाजोपयोगी उत्पादक कार्य जैसे विषय आपको पढाये जायेंगे तथा कला/संगीत/शारीरिक शिक्षा के बाद, इंटर्नशिप भी करवाई जाएगी।
  • इसके तीसरे सेमेस्टर में शैक्षिक मूल्यांकन, क्रियात्मक शोध एवं नवाचार, समावेशी शिक्षा, विज्ञान शिक्षण जी विषयों में आपकी रूची देखी जाएगी और गणित शिक्षण, सामाजिक अध्ययन शिक्षण, हिंदी शिक्षण, संस्कृत शिक्षण, उर्दू शिक्षण, कंप्यूटर शिक्षण, कला एवं संगीत शिक्षण जैसे विषय आपको पढाये जायेंगे और शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य शिक्षा के बाद आपको इंटर्नशिप करवाई जाएगी।
  • इसके चौथे सेमेस्टर में आपको आरंभिक स्तर पर भाषा के पठन, लेखन एवं गणितीय क्षमता का विकास जैसे विषयों को पारंगतता  के साथ पढाया जायेगा। शैक्षिक प्रबंधन एवं प्रशासन, विज्ञान शिक्षण, गणित शिक्षण, सामाजिक अध्ययन शिक्षण, हिंदी शिक्षण, अंग्रेजी शिक्षण, शिक्षा एवं सतत विकास, कला एवं संगीत शिक्षण के साथ साथ शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य शिक्षा का भरपूर ज्ञान दिया जायेगा जिसके बाद आपको अंतिम  इंटर्नशिप करवाई जाएगी।

इसके बाद आपको D।El।ED। का सर्टिफिकेट मिल जायेगा।

D। El ।ED। के बाद क्या करे

  • D।El।ED। के बाद आपको TET/CTET (Teacher Eligibility Test/Central Teacher Eligibility Test) जिसे टेट/सी-टेट भी कहा जाता है की तैयारी करनी होती है, जो लोग किसी भी सामान्य राज्य से आते है वे लोग TET की तैयारी करते है और जो लोग केंद्र शासित प्रदेश से आते है उन्हें सी-टेट की तैयारी करनी होती है।
  • TET/CTET जिसे टेट/सी-टेट भी कहा जाता है की परीक्षा को उत्तीर्ण करने के बाद ही आप शिक्षक भर्ती की परीक्षा देने के काबिल होते है।

TET/CTET के लिए आवेदन कैसे करे

  • इनकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाये।
  • वहा जाकर form fill करे।
  • अपनी पूरी जानकारी देवे।
  • उसके बाद फॉर्म को जमा करे और आवेदन शुल्क प्रदान करे।
  • आवेदन form की फोटोकॉपी साथ में रखे।

TET/CTET का एग्जाम क्लियर करने के बाद क्या करे

  • यह एग्जाम क्लियर करने के बाद आपको TET/CTET का सर्टिफिकेट मिल जायेगा जिसको आप शिक्षक भर्ती परीक्षा में काम ले पाएंगे।

TET/CTET के बारे में कुछ खास बातें

  • इसकी परीक्षा में 150 सवाल पूछे जाते है।
  • इस परीक्षा के लिए आप हर समय आवेदन नहीं कर सकते है।
  • इस परीक्षा के आवेदन के लिए विभिन्न वर्गों के अनुसार 200-400 रुपये तक की फीस रखी गयी है।
  • यह सर्टिफिकेट केवल 7 सालों के लिए ही मान्य है।
  • इसकी परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है।
  • इस परीक्षा को पास करने के लिए कम से कम 60% अंक आने जरूरी है।
  • यह एग्जाम 17 भाषाओं में से लिया जाता है जिसमे से आप अपनी भाषा चुन सकते है।
  • विभिन्न वर्गों के अनुसार इस एग्जाम के लिए आवेदन 18 से लेकर 45 वर्ष की आयु तक किया जा सकता है (जाति के अनुसार उम्र सीमाए वर्गीकृत है)
  • इस एग्जाम में, परीक्षा के बाद रिचेकिंग या पुनरावेक्षण की सुविधा आपको नहीं मिल पाती है।

एक शिक्षक की सैलरी कितनी होती है?

  • एक शिक्षक की सैलरी सभी राज्यों के अनुसार अलग अलग होती हैं और जैसे जैसे एक शिक्षक का एक्सपीरियंस बढ़ता है तो उसकी सैलरी भी बढ़ती रहती है।
  • अगर बात करे एक शिक्षक की सैलरी की तो एक शिक्षक की सैलरी अलग अलग राज्यों में 30,000 से 41,000 रुपये तक हो सकती है।

निष्कर्ष

तो आज के लेख में हमने जाना की प्राइमरी का मास्टर कैसे बने, कैसे इसकी तैयारी करनी होती है, कैसे आवेदन करना होता है और भी इन चीजों से सम्बंधित जानकारी आज हमने आपके साथ बांटी। आशा करते है की आपको यह दी हुई जानकारी पसंद आई होगी। यदि आपको यह लेख पसंद आया है तो कृपया इसे अपने मित्रों व सगे सम्बन्धियों तक जरूर शेयर करे।

धन्यवाद

इसे भी पढ़े:- एनिमेशन में करियर कैसे बनाएं

इसे भी पढ़े:- Accountant कैसे बने

2 thoughts on “प्राइमरी मास्टर का करियर कैसे बनाये – 2021 पूर्ण जानकारी”

  1. Pingback: Doctor कैसे बने 12 के बाद, Eligibility, Salary, future, किस प्रकार डॉक्टर बने

  2. Pingback: Sashastra Seema Bal (SSB) kaise bane 2021 Full detail in hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *