विधान सभा से मंत्री कैसे बने 2021 पूरी जानकारी। मंत्री कितने प्रकार के होते है।

नमस्कार पाठकों,

आज का हमारा यह लेख भारत की राजनैतिक व्यवस्था से संबंधित होगा। आज के लेख में हम जानेंगे कि विधायक कैसे बना जा सकता है उसकी योग्यताये क्या होती है, विधायक के बाद मंत्री कैसे बना जा सकते है। विधान सभा से मंत्री कैसे बने, मंत्री कितने प्रकार के होते है। मंत्रियों के कार्य क्या होते है और वेतनमान कितना होता है। आज का हमारा यह लेख इसी मुद्दे पर आधारित होगा।

तो चलिए शुरू करते है-

एक विधायक कैसे बना जा सकता है।

  • यदि विधायक को उसी के शब्द से समझे तो इसका अर्थ निकलता है की वह व्यक्ति विशेष जिसका कार्य विधान लिखना या विधान बनाना होता है और विधान का अर्थ कानून होता है। एक लोकतंत्र में एक शालीन और सभ्य समाज निर्माण के लिए जनता दिन रात काम करती है।
  • लेकिन अपने पारिवारिक या व्यवसायिक काम से अलग एक और काम होता है जिसका अच्छे से होना महत्वपूर्ण है और वह काम होता है देश संभालना और देश के लोगों, उनके हितों, उनके जीवन की रक्षा करना।
  • हम यह समझ सकते है की एक व्यक्ति जो सारा दिन घर के काम में लगा होता है वह देश संभालने के लिए अपना पूरा समय नहीं दे सकता है इसी लिए उस पूरे गाँव, जिले, देश जनता मिलकर कुछ ऐसे लोगों को चुनती है जिनका प्रमुख कार्य देश चलाना होता है।
  • एक व्यक्ति को विधायक केवल जनता जनार्दन बना सकती है और वह प्रक्रिया चुनाव के जरिये संचालित करी जाती है। यदि एक व्यक्ति विधायक बनना चाहता है तो उसे जनता के बीच जाकार उनका साथ मांगना होगा।
  • यदि उस व्यक्ति को जनता का साथ मिलता है तो वह विधायक बन सकता है। जनता अपना साथ उस व्यक्ति को वोट के रूप में दे सकती है। इसी से लोकतंत्र की परिभाषा “जनता का, जनता के लिए, जनता के द्वारा स्थापित किया गया लोकतंत्र” परिभाषित होती है।
  • एक व्यक्ति यदि विधायक बनना चाहता है तो वह निर्दलीय, किसी पार्टी से जुड़कर, उस समय चुनाव लड़ सकता है जिस समय पूरे राज्य में विधानसभा के चुनाव हो रहे हो। उसके बाद यदि वह चुनाव जीत जाता है तो वह अपने आप एक विधायक बन जाता है।
  • एक व्यक्ति केवल विधायक बनने के लिए लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 के अंतर्गत केवल उस राज्य से विधायकी का चुनाव लड़ सकता है जहां की मतदाता सूची में उसका नाम हो।
  • और अब वह विधानसभा में जाकर अपने लोगों की बातों, उनकी तकलीफों, उनकी समस्याओं को विधानसभा के पटल पर रख सकता है। कानून बनाने की प्रक्रिया का हिस्सेदार बन सकता है।

इसे भी पढ़े:- IAS officer Kaise Bane

इसे भी पढ़े:- Sashastra Seema Bal (SSB) kaise bane 2021 पूर्ण जानकारी

इसे भी पढ़े:- भारत का राष्ट्रपति कैसे बने-2021 पूर्ण जानकारी

विधायक बनने की योग्यताएं

यदि आप विधायक बनना चाहते है तो लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 के अनुसार आप में कुछ योग्यताओं का होना आवश्यक है जैसे कि-

  • आप भारत के नागरिक होने चाहिए।
  • आप जहा से चुनाव लड़ें वहा की मतदाता सूची में आपका नाम होना चाहिए
  • आप किसी भी सरकारी नौकरी पर न हो
  • आप मानसिक रूप से सही होने चाहिए
  • आप दिवालिया घोषित नहीं हुए होने चाहिए
  • और यदि आपको विधायक बनने की योग्यताओं को बिलकुल अन्दर तक जानना है तो अप लोकप्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 पढ़ सकते है।

विधायक से मंत्री कैसे बना जा सकता है।

यदि आप विधायक से मंत्री बनना चाहते है तो इसमें आपको अपना थोडा दिमाग लगाना होगा

यदि आप एक विधायक है और राज्य विधानसभा में जो पार्टी बहुमत या आपस में मिली जुली  सरकार बनाने से जीती है और आप उस पार्टी के चुने हुए विधायक है तो आप कुछ तरीकों से मंत्री बन सकते है

  • मुख्यमंत्री से अपने अच्छे व्यवहार बनाकर रखे।
  • पूरी पार्टी में अपनी अच्छी छवि बनाये रखे।
  • जिस मंत्रिपद को आप हासिल करना चाहते है उसके लिए अपने अन्दर काबिलियत रखे।
  • आलाकमान से संपर्क में रहे। क्योंकि वह आलाकमान ही है जो यह निर्णय लेता है कि किसे मंत्री बनना है और किसे क्या काम करना है।
  • कोशिश करे कि अच्छे कारणों से खबरों में जरूर रहे।
  • लोगों की नजर में जरूर रहे।
  • जब आप एक विधायक चुने जाते है तब ही से अपने लोगों के लिए वह कार्य करना शुरू कर दे जिसके आपने वादे किये थे।
  • यह सब करके आप एक विधायक से मंत्री बन सकते है।

एक मंत्री का क्या काम होता है

  • वैसे तो मंत्री बहुत प्रकार के होते है लेकिन अगर सामूहिक रूप से बात करी जाए तो एक मंत्री का मुख्य कार्य होता है कि वह जिस डिपार्टमेंट के भीतर मंत्री का पद संभाले हुए है, और उस डिपार्टमेंट से सम्बंधित जो वादे उसने जनता से किये है या उनकी सरकार ने जनता से करे है उन्हें पूरा करे।
  • या उस विशेष डिपार्टमेंट के संबंध में यदि कोई त्रुटि है या समस्या है तो उसका निदान करे।·  
  • अपने नीचे काम करने वाले लोगों से यदि कोई गलती हो तो उसका दायित्व भी खुद पर लेने और उस गलती को सही करने का काम एक मंत्री का होता है।
  • जनता के सवालों का जवाब देने का काम एक मंत्री का होता है।

मंत्री कितने प्रकार के होते है

भारत जैसे लोकतंत्र में मंत्री दो प्रकार के हो सकते है – केंद्रीय मंत्री व राज्य मंत्री।

  • यदि एक व्यक्ति लोकसभा का चुनाव जीतकर सांसद बनता है और सांसद बनते समय उसी पार्टी का सदस्य भी होता है जो पार्टी वह लोक सभा का चुनाव जीती है तो उस पार्टी में मंत्री का पद पाने वाले संसद को केंद्रीय मंत्री कहा जाता है
  • उसी प्रकार यदि एक व्यक्ति विधानसभा का चुनाव जीतकर विधायक बनता है और विधायक बनते समय उसी पार्टी का सदस्य भी होता है जो पार्टी वह विधान सभा का चुनाव जीती है तो उस पार्टी में मंत्री का पद पाने वाले संसद को राज्य मंत्री कहा जाता है।
  • लेकिन दोनों अवस्थाओं में भी मंत्री के पद फिर से दो प्रकार के हो सकते है – सामान्य मंत्री, कैबिनेट मंत्री।
  • वह मंत्री जिसे कैबिनेट में जगह न मिली हो उसे सामान्य मंत्री कहा जाता है और वह व्यक्ति जिसे कैबिनेट में जगह मिली हो उसे कैबिनेट मंत्री कहा जाता है।

[वह व्यक्ति जो मुख्यमंत्री या प्रधान मंत्री (वह दल जो चुनाव जीता है उसका प्रतिनिधी) बना हुआ है वह अपने कैबिनेट को डिजाईन करता है। कैबिनेट को हम ऐसे समझ सकते है कि मन लीजिये 200 लोग चुनाव जीते है, और 200 लोगों ने A को अपना प्रतिनिधि घोषित किया है अब उन 200 लोगों में से 50 को मंत्रिपद दिए गए और विधान सभा का मंत्रिमंडल 50 लोगों का हुआ। अब A अपना काम पूरी लगन के करने के लिए कुछ ऐसे 10 करीबी लोगों या करीबी मंत्रियों का चयन मंत्रिमंडल में से करता है जिसकी जरूरत उसे आने वाले 5 सालों के लगभग हर दिन पड़ने वाली है। बाद में वह उन मंत्रियों का एक समूह बनता है और उस समूह को कैबिनेट कहा जाता है]

वेतनमान

  • राज्य मंत्री व केंद्रीय मंत्री की के वेतनमान में फर्क हो सकता है। लेकिन सामान्य मंत्री और कैबिनेट मंत्री के वेतनमान में फर्क नही होता है।
  • एक राज्य मंत्री का वेतनमान 2 लाख से ढाई लाख रुपये प्रतिमाह हो सकता है।
  • और एक केंद्रीय मंत्री का वेतनमान ढाई लाख से सवा तीन लाख रुपये प्रतिमाह तक हो सकता है।

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने यह जाना कि विधायक कौन होता है, विधायक कैसे बना जा सकता है, विधायक से मंत्री कैसे बना जा सकता है, विधान सभा से मंत्री कैसे बने, मंत्री के कार्य व उसका वेतनमान क्या होता है। इस लेख से सम्बंधित अगर आप कुछ और जानना चाहते हैं या अपना कोई सुझाव देना चाहते है तो हमे कमेंट करके जरुए बताये हमे आपका जवाब देना में ख़ुशी होगी।

यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आई तो कृपया से शेयर करे।

धन्यवाद


इसे भी पढ़े :- Accountant में करियर कैसे बनाये

इसे भी पढ़े :- Foreigh Language kaise seekha

इसे भी पढ़े :- Web developer कैसे बने

इसे भी पढ़े :- Graphics designer कैसे बने

इसे भी पढ़े :- Web Designer कैसे बने

3 thoughts on “विधान सभा से मंत्री कैसे बने 2021 पूरी जानकारी। मंत्री कितने प्रकार के होते है।”

  1. Pingback: Hacker kaise bane 2021 पूर्ण जानकारी हैकर कौन होता हैं

  2. Pingback: स्पेस साइंस में करियर कैसे बनाये 2021 पूर्ण जानकारी Space Scientist kaise Bane - Hindygyan

  3. Pingback: कैरम का चैंपियन कैसे बने 2021 पूर्ण जानकारी - कैरम खेल के नियम

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *