Accountant में करियर कैसे बनाये -2021 पूरी जानकारी! शुरुवात कैसे करे? Golden Rules of Accounting in Hindi !

Accountant कैसे बने :-

Accounting कंपनी का एक ऐसा प्रोसेस है जिसके द्वारा हम कंपनी के वित्तीय लेनदेन का लेखा-जोखा रखते हैं. या हम यह कह सकते की Accounting के अंतर्गत बिजनेस के लेनदेन को लिखित रूप में रखा जाता है, हमने इस आर्टिकल मे Accountant कैसे बने और Golden Rules of Accounting in Hindi के बारे मे बहुत सारे तथ्यो के बारे मे बताया हैं जो अकाउंटेंट बनने के लिए बहुत जरुरी होते है!

इसे एक Accountant द्वारा संभाला जाता है और रिकॉर्ड किया जाता है, पहले Business के लेन देन को किसी पुस्तक या डायरी में लिखा जाता था, परंतु आज के समय में बिजनेस के सभी लेन देन को एक Software द्वारा Record किया जाता है ताकि भविष्य में किसी भी समय हमें हमारे बिजनेस की वास्तविक स्थिति पता चल सके!

इसे भी पढ़ें:- डॉक्टर कैसे बने

इसे भी पढ़ें:- Animator कैसे बने

इसे भी पढ़ें:- निशानेबाज कैसे बने

इसे भी पढ़ें:- पक्षी वैज्ञानिक में करियर कैसे बनाये

Golden Rules of accounting in Hindi

Accountant कैसे बने
  • Golden Rules of Accounting की बात करें तो DEBIT और CREDIT दो ऐसे शब्द है, जिनके आधार पर पूरी Accounting प्रक्रिया की जाती है।
  • बिजनेस में प्राप्त करने वाला हमेशा Debit होता है और देने वाला हमेशा Credit होता है यह Accounting का पहला Rule है।
  • Accounting के दूसरे Rule के अंतर्गत जो आता है उसे Debit किया जाता है और जो जाता है उसे Credit किया जाता है, यह “Golden Rules of Accounting in Hindi” की दूसरी प्रक्रिया है।
  • यही Accounting के तीसरे Rule के अंतर्गत बिजनेस के खर्चे व नुकसान हमेशा Debit होते हैं और आय व लाभ हमेशा Credit होता है।
  • ये “Golden Rules of Accounting” है जो अकाउंटिंग की पूरी प्रक्रिया के दौरान इस्तेमाल किए जाते हैं जिसे मैंने बहुत ही सरल भाषा में को समझाया है।

Corporate Accounting

  • Corporate Accounting Accounting की एक विशेष शाखा है जो कंपनियों के लिए लेखांकन, उनके Final Account की तैयारी और Cash Flow विवरण, कंपनियों के Financial Result व कानून और नीतियां आदि तैयार करती है जिनसे बिजनेस की वर्तमान स्थिति का पता चलता है और कंपनी के लाभ और हानि का भी अंदाजा लगाया जा सकता है।
  • इसलिए बिजनेस के वर्ष के अंत में Account हो Final किया जाता है और एक Financial Result तैयार किया जाता है जो Corporate Accounting के अंतर्गत आता है।

Career in Accounting

  • आज के समय में Accounting हर बिजनेस के लिए बहुत जरूरी है सभी तरह की ट्रेडिंग कंपनी मैन्युफैक्चरिंग कंपनी या फिर कोई भी व्यक्ति अपने बिजनेस को शुरू करता है तो उसे एक Accountant की आवश्यकता होती है चाहे वह किसी भी तरह की कंपनी हो, अगर आप Accounts Background से हैं तो आपने 10th और 12th में अकाउंट में पढ़ाई की होगी, इसलिए Accounting आपके लिए बहुत अच्छा करियर हो सकता है।
  • शुरुआत में हमें Accounting के Basics को समझना होता है और किसी सॉफ्टवेयर को सीखना होता है  जिसके द्वारा हम कंपनी के रिकॉर्ड को लिखित रूप में रख सके, बस जरूरत है तो 1 से 2 साल मेहनत करने की क्योंकि  यह वह समय है  जब आपको अपने कार्य को Practically सीखने का समय मिलता है! 1 से 2 साल मेहनत करने के बाद आपको कंपनी के Basic Rules की जानकारी हो जाती है और इसी में आप अपना करियर बना सकते हैं।

Levels in accounting

  • Accounts में बहुत सारे Position होती हैं जैसे हम शुरुआती दिनों में किसी कंपनी में एक Junior Accountant की तरह कार्य करते हैं और 1 से 2 साल की मेहनत के बाद अपने ज्ञान को बढ़ाते हैं और Accountant के दूसरे पद  के लिए खुद को तैयार करते हैं, जैसे किसी कंपनी में Accounts की Team में बहुत से लोग होते हैं जिनमें से Account Payable, Account Receivable, Tax accountant, Senior accountant, Accounts manager आदि होते हैं,।
  • ये सभी एक बड़ी और मैन्युफैक्चरिंग कंपनी में होते हैं!  एक नई उद्योग या छोटी कंपनी में 1 से 2 अकाउंटेंट होते हैं! जैसे एक Senior Accountant और एक Junior Accountant होता है।

1. Accounts Payable

Account Payable के अंतर्गत एक Accountant होता है जो कंपनी के सभी देनदार को तय किए गए वक्त पर उनके बिलों का भुगतान करता है उसे Account Payable कहा जाता है।

2. Accounts Receivable

Account Receivable के अंतर्गत एक Accountant होता है जो कंपनी के सभी  लेनदार  से तय समय पर  अपने द्वारा भेजे गए माल का पैसा लेता है और यदि तय वक्त पर पार्टी पैसा नहीं देती है तो उसके लिए उनसे संपर्क करना होता है जो account Receivable के अंतर्गत आता है!इसके साथ साथ account Receivable बिजनेस में प्राप्त हो रहे सभी Transaction को रिकॉर्ड करता है।

3. Tax Accountant

 Tax Accountant भी Account टीम  का एक Member होता है जो कंपनी के Tax संबंधित सभी कार्य करता है जैसे:- टैक्स कैलकुलेशन, टैक्स  भुगतान और समय पर सरकार को  टैक्स जमा करना या कंपनी में  टैक्स संबंधित सुझाव देना और कंपनी का टैक्स बचाने से संबंधित कार्य करता है।

4. Senior Accountant

Senior Accountant अकाउंट्स की टीम में हो रहे सभी कार्यों पर अपनी नजर रखता है और समय-समय पर अकाउंट में हो रही समस्याओं को भी सॉल्व करता है और अकाउंट के सभी कार्यों को समय पर पूरा करवाता है. और अकाउंट में हो रहे सभी कार्यों की सूचना अकाउंट मैनेजर को देता है।

5. Accounts manager

अकाउंट मैनेजर कंपनी के अकाउंट संबंधित सभी कार्यों को मैनेज करता है और समय-समय पर अकाउंट में हो  रहे error को भी सॉल्व करता है.  और कंपनी के सभी अकाउंट संबंधित दस्तावेज और रिपोर्ट को अपने पास रखता है ताकि  कंपनी मैं ऑडिट या किसी तरह  की  कार्रवाई के दौरान उन दस्तावेजों को दिखा सकें।

शुरुवात कैसे करे?

  • अकाउंटेंट आज के समय मे बहुत ही अच्छा करियर का विकल्प है जिसमे आप अपना करियर बना सकते है और अपने उज्जवल भविष्य की कामना कर सकते है अब सवाल आता है की अकाउंटेंट कैसे बने और सुरुवात कैसे करे. क्युकी सबसे ज्यादा परेशानी होती है किसी भी काम की सुरुवात करने मे, तो मैं आपको बताता हूँ आप अकाउंटेंट मे अपने करियर की सुरुवात कैसे करें।
  • अकाउंटेंट बनने के लिए सबसे पहले आपका 10th या 12th पास होना बहुत जरुरी हैं क्युकी अगर आप किसी भी छोटी कंपनी या फर्म मे काम करने के लिए जाते है तो वहा आपकी Qualification के बारे में जरूर पूछा जाता है. जो काम से काम 10th या 12th होनी ही चाहिए।
  • सुरुवात मे आपको कुछ प्रैक्टिस करनी होगी इसके लिए आपके पास कई विकल्प हैं जैसे :- अगर आपके पास कंप्यूटर या लैपटॉप है तो आप अपने घर पे प्रैक्टिस कर सकते है और जो समझ नहीं आता है उसे यूट्यूब या गूगल से समझ सकते है।
  • अकाउंटेंट बनने के लिए कुछ सॉफ्ट वेयर की जरुरत होती है जिसके द्वारा बहुत सी कंपनी अपनी एकाउंटिंग करती है जैसा हमने अपने इस आर्टिकल मे बताया है की Tally, Busy, ERP और SAP जैसे कुछ सॉफ्टवेयर है जिसके द्वारा किसी कंपनी की एकाउंटिंग की जाती हैं।
  • सुरुवात में आपको टैली सॉफ्टवेयर सीखना चाहिए क्युकी इसकी डिमांड बहुत है एकाउंटिंग के काम के लिए और बहुत सी कंपनी इसी एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करती है, इससे सीख कर आप अपना करियर की सुरुवात कर सकते है।
  • जब आपको एकाउंटिंग की बेसिक नॉलेज हो जाती है तब आप या तो CA फर्म ज्वाइन कर सकते है या किसी कंपनी मे जूनियर अकाउंटेंट का पद पर जा सकते है जहा आप सुरुवाती लेवल में कंपनी के बहुत सारे काम प्रक्टिकली सीख सकते है और अपनी स्किल्स को बढ़ा सकते है. जिससे आने वाले समय में आपके पास बहुत सारी Opportunity होंगी और आप अच्छी सैलरी प्राप्त कर सकते हैं।
  • 1 से 2 साल के एक्सपीरियंस के बाद जब अच्छी नॉलेज हो जाती है तो आप किसी अच्छी और बड़ी कंपनी मे जॉब अप्लाई कर सकते है लेकिन उसके लिए स्किल्स के साथ – साथ आपकी क्वालिफिकेशन कम से कम ग्रेजुएशन होनी चाहिए तभी आप किसी बड़ी कंपनी मे अप्लाई कर सकते है।

कंपनी में एकाउंटिंग के कार्य :-

  • कंपनी में अकाउंट संबंधित कार्य में सबसे पहले कंपनी में माल खरीदने और  बेचने के वक्त जो दस्तावेज उपयोग होते हैं उनका रखरखाव होता है इसके बाद कंपनी के वित्तीय लेनदेन को भी रिकॉर्ड करना होता है जिसे हम किसी सॉफ्टवेयर की मदद से रिकॉर्ड करते हैं।
  • यदि  कंपनी को कभी लोन या फंडिंग की आवश्यकता होती है तो उस समय डॉक्यूमेंटेशन कराने का कार्य Accountant के द्वारा होता है! जब कंपनी कोई  वस्तु खरीदती हैं तो उसके भुगतान के लिए हमें जो पैसा देना होता है और किसी वस्तु को बेचने के वक्त जो पैसा लेना होता है और बैंक से  किए गए लेनदेन का भी लेखा-जोखा रखना होता है।
  • इसके अलावा कंपनी में Employee की सैलरी से लेकर  कंपनी के  सामान्य खर्चे और  टैक्स की पेमेंट वह समय-समय पर सरकार को अपनी कंपनी की स्थिति दिखाना जिसे जीएसटी रिटर्न भी कहा जाता है यह सभी कार्य एक कंपनी के एकाउंटिंग वर्क के अंतर्गत आते हैं।

एकाउंटिंग सीखने के बाद किन किन क्षेत्रो मे करियर बनाये ?

बहुत सारी ऐसी पोस्ट हैं जिसमे आप अपना करियर बना सकते है सुरुवाती लेवल मे आप जूनियर अकाउंटेंट बन सकते है और अपनी नॉलेज और स्किल्स को बढ़ा सकते है जिससे आप अपने करियर का रास्ता साफ़ कर हैं।

आप चाहे तो धीरे धीरे अपनी स्किल्स बढ़ा सकते है और अपनी अगले पद के लिए तैयारी जकर सकते हैं इसके लिए आप जितनी जयादा नॉलेज ले सकते है ले लेनी चाहिए तभी आप इस फील्ड मे अच्छे पद पर जा सकते हैं।

कुछ पदों का बारे मे नीचे लिखा हुआ हैं जिनमे आप अपना करियर बना सकते हैं

Junior Accountant

Accountant

Senior Accountant

Finance Managers

Financial Advisors

Certified Public Accountant (CPA)

Chief Financial Officer (CFO)

अकाउंट जॉब के लिए बुनियादी आवश्यकता :-

  • Qualification:- Accounting Job में  शुरुआत करने के लिए किसी बहुत बड़ी डिग्री की आवश्यकता नहीं होती है इसके लिए यदि आप दसवीं पास है और आपको एकाउंटिंग की बेसिक जानकारी है तो आप किसी सॉफ्टवेयर जैसे Busy, Tally, Erp जैसे  सॉफ्टवेयर की जानकारी लेकर किसी भी कंपनी में कार्य कर सकते हैं।
  • Future Requirement:- यदि आप Accounting में अपना करियर बनाना चाहते हैं  और आप अच्छी कंपनी में कार्य करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको अच्छे एक्सपीरियंस और क्वालिफिकेशन की जरूरत होगी! एक अच्छी कंपनी में कार्य करने के लिए  आपको कम से कम ग्रेजुएशन होना आवश्यक है तभी आप इस फील्ड में अच्छा करियर बना पाएंगे।

Accountant बनने के लिए बारहवीं के बाद सब्जेक्ट?

बी.कॉम मे सब्जेक्ट:-

B.Com in Accounting and Finance

B.Com in Accounting & Commerce

Bachelor of Commerce in Accountancy

B.Com in Accounting & Taxation

BBA in Accounting & Finance

Salary in Accounts job

  • Accounts Job में सैलरी को लेकर सभी कंपनी के अपने अलग-अलग Slab है, जैसे कुछ कंपनियां शुरुआती दौर में लगभग 10,000 से  शुरुआत करती है और धीरे-धीरे आपकी सैलरी को आपके  एक्सपीरियंस के  हिसाब से  बढ़ाती है।
  • यदि आपको लगभग 1 साल  पूरा हो जाता है उसके बाद कंपनी आपको लगभग 15000 तक सैलरी offer कर देती है. इसके बाद जैसे-जैसे Experience बढ़ता है कंपनी आपकी सैलरी बढ़ा देती है या आप किसी दूसरी कंपनी में  अपने एक्सपीरियंस को लेकर एक अच्छे सैलेरी पैकेज पर जा सकते हैं।
  • अकाउंट की जॉब में  सैलरी Aapke के एक्सपीरियंस के हिसाब से मिलती है यदि आप का एक्सपीरियंस 3 से 5 साल का हो जाता है तो कंपनी आपको लगभग 30,000 तक सैलरी Pay कर देती है।

Struggle in accounts job

  • यदि हम किसी भी Field में अपने करियर की शुरुआत करते हैं तो शुरुआत में मेहनत करनी पड़ती है इसी तरह शुरुआती वक्त में Accountant की Job के लिए भी बहुत मेहनत करनी पड़ती है और शुरुआती वक्त में जॉब पाना आसान नहीं होता शुरुआती दौर में बहुत से लोग किसी CA के पास भी चले जाते हैं।
  • परंतु सीए के पास जाना भी  एक अच्छा  विकल्प है, वहां हमें  बहुत सारी चीजें सीखने को मिलती है परंतु वहां हमें कोई सैलरी नहीं मिलती है या बहुत कम सैलरी मैं काम करना होता है! 1 साल CA के पास काम करने के बाद हम इतना सीख जाते हैं कि हम किसी कंपनी में Apply कर सकते हैं और अपने करियर  की शुरुआत कर सकते हैं।

Scope/Future of accounting

  • आज के समय में Accounting हर बिजनेस की जरूरत बन गया है किसी कंपनी की शुरुआत के लिए सबसे पहले एकाउंटिंग जैसे कार्य को प्राथमिकता देनी होती है बिना एकाउंटिंग के आप किसी कंपनी को नहीं चला सकते! इससे यह पता चलता है की एकाउंटिंग फील्ड में आप अपना Future बना सकते हैं और इस field  मैं बहुत Scope है जो आपको लंबे समय तक  इनकम दे सकता है।
  • आज के समय में सभी अपना बिजनेस करना चाहते हैं और बिजनेस की शुरुआत करने के लिए पैसों के साथ-साथ एकाउंटिंग की भी जरूरत होती है जिसके लिए शुरुआती दौर में लोग पार्ट टाइम अकाउंटेंट तलाश करते हैं और कुछ समय के बाद जब उनका बिजनेस अच्छा चलने लगता है तो वे full time accountant रख लेते हैं तो इस फील्ड में आप पार्ट टाइम भी जॉब कर सकते हैं और फुल टाइम  भी जॉब  कर सकते हैं।

Accounts Profile की जॉब कैसे ढूंढे?

  • Accounts की Job पाने के लिए हमारे पास बहुत से ऑप्शन होते हैं जैसे किसी Institute से Accounting course करके हमें Job मिल जाती है क्योंकि बहुत से Institute Placement भी देते हैं  लेकिन Placement वाले  Institute की फीस थोड़ी ज्यादा होती है।
  • इसलिए ज्यादातर लोग CA  के पास सीखने के लिए चले जाते हैं जो कि एक काफी अच्छा विकल्प है! या फिर हमारे पास कोई सोर्स होनी चाहिए जो हमारे शुरुआती वक्त में हमें एकाउंटिंग सिखा सके।
  • शुरुआत के 1 से 2 साल एकाउंटिंग ऐसे ही सीख पाते हैं उसके बाद हम ऑनलाइन वेबसाइट पर जाकर जॉब सर्च कर सकते हैं  और अप्लाई भी कर सकते हैं शुरुआत के एक साल ही हमें सबसे ज्यादा मेहनत करने होती है क्योंकि इस समय में हमें सीखना होता है 1 साल के बाद अपने कार्य को एक्सपीरियंस के रूप में रख सकते हैं इसलिए हमें 1 साल सिर्फ Learning करनी चाहिए 1 साल के बाद Earning के बारे में सोचना चाहिए।

Experience के बाद जॉब कैसे ढूंढे?

  • Accounting में 1 साल के एक्सपीरियंस के बाद Online Job Website के द्वारा Job Search कर सकते हैं या अपने फ्रेंड सर्कल जो कंपनी में Job करते हैं उनके द्वारा भी Job ढूंढ सकते हैं क्योंकि  1 से 2 साल के Experience के बाद अकाउंट की जॉब मिलने के Chance बढ़ जाते हैं।
  • आजकल बहुत सारी ऐसी Website है जो Job Search करने में हमारी मदद करती है बहुत वेबसाइट फ्री में हमें अच्छी जॉब सर्च करके देती हैं और कुछ वेबसाइट को पैसे देने होते हैं अपनी अच्छी प्रोफाइल अपडेट करने के लिए, जैसे कुछ वेबसाइट जो जॉब सर्च करने के लिए आमतौर पर इस्तेमाल की जाती है।
  • जैसे naukri.com, Linked in,  shine.com, quikr.com etc. इन वेबसाइट्स की मदद से आप अपनी जॉब ढूंढ सकते हैं इसके लिए आपको अपनी प्रोफाइल अपडेट करनी होगी।

Conclusion

इस आर्टिकल में हमने बताया की Accountant कैसे बने ?, Golden rules of accounting in hindi और Accountant की क्या सैलरी होती है और भी बहुत से तथ्यों के बारे में हमने इस आर्टिकल में बताया है जो आपके करियर के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं. अगर आपका इससे सम्बन्धित कोई सवाल हो या आप अपना कोई सुझाव देना चाहते है तो हमे कमेंट करके जरूर बताये हम आपका रिप्लाई जरूर करेंगे

धन्यवाद

इसे भी पढ़े:- Web Designer कैसे बने?

इसे भी पढ़े:- Web developer कैसे बने?

इसे भी पढ़े:- हड्डियों का डॉक्टर कैसे बने?

इसे भी पढ़े:- बॉक्सिंग में करियर कैसे बनाये

FAQS

प्रश्न:- CA का क्या काम होता है?

उत्तर. किसी कंपनी या व्यवसाय के वित्तीय क्षेत्र से सम्बंधित सभी काम जैसे टैक्स Return भरना Balance Sheet बनाना आदि सभी काम CA द्वारा किये जाते हैं।

प्रश्न:- अकाउंटेंट मतलब क्या होता है?

उत्तर. अकाउंटेंट का मतलब उस व्यक्ति से हैं जिसके द्वारा किसी कंपनी या व्यवसाय का हिसाब रखा जाता हैं।

प्रश्न:- टैली कोर्स कितने दिन का होता है?

उत्तर. टैली कोर्स लगभग 3 से 6 महीने का होता है।

प्रश्न:- टैली का कोर्स क्या है?

उत्तर. टैली कोर्स एकाउंटिंग का रिकॉर्ड रखने के लिए बहुत ही अच्छा सॉफ्टवेयर है जिसे बहुत सारे बिज़नेस में बहुत उपयोगी माना गया हैं।

प्रश्न:- टैली कोर्स की फीस कितनी होती है?

उत्तर:- टैली कोर्स की फीस सभी इंस्टिट्यूट की अलग अलग हो सकती हैं बेसिक टैली की लगभग फीस 2000 से 4000 तक होती है

प्रश्न:- एकाउंटिंग कॉन्सेप्ट्स के एग्जांपल?

उत्तर:- Golden Rules of Accounting की बात करें तो DEBIT और CREDIT दो ऐसे शब्द है, जिनके आधार पर पूरी Accounting प्रक्रिया की जाती है।

प्रश्न:- अकाउंटेंट का क्या काम होता है?

उत्तर:- अकाउंटेंट का काम कंपनी के वित्तय लेन देन से लेकर उसकी सभी तरह की लेन देन प्रक्रया का रिकॉर्ड बनाए रखना होता हैं।

प्रश्न:- Accountancy in hindi / Basic accounting in hindi/Accountant in hindi/Financial accounting in hindi

उत्तर:- आपके इन सभी सवालो के जवाब हमने इस आर्टिकल मे दे दिये है और अगर आपका कोई और सवाल है तो हमे कमेंट करके जरूर बताये

20 thoughts on “Accountant में करियर कैसे बनाये -2021 पूरी जानकारी! शुरुवात कैसे करे? Golden Rules of Accounting in Hindi !”

  1. Pingback: Digital Marketing kya hai? What is Digital Marketing?

  2. Pingback: Animator कैसे बने ? Animator kaise bane? course, salary, future?

  3. Pingback: सब्सिडी क्या है! सब्सिडी क्यो दी जाती है! What is Subsidy in Hindi?

  4. Pingback: Doctor कैसे बने 12 के बाद, Eligibility, Salary, future, किस प्रकार डॉक्टर बने

  5. Pingback: फैशन डिज़ाइनर कैसे बने? पूर्ण जानकारी - फैशन डिज़ाइनर सैलरी इन हिंदी?

  6. Pingback: Pilot कैसे बने। सुरूवात कैसे करें। How to become a Pilot in Hindi

  7. Pingback: Delhi me sharab ke distributor kaise bane। शराब का डिस्ट्रीब्यूटर कैसे बने

  8. Pingback: पक्षी वैज्ञानिक में करियर कैसे बनाये? कितनी इनकम कर सकते हैं?

  9. Pingback: बॉक्सिंग में करियर कैसे बनाये? पूरी जानकारी, How to Become a boxer in Hindi

  10. Pingback: दिल्ली पुलिस में करियर कैसे बनाये ? दिल्ली पुलिस ऑफिसर कैसे बने।

  11. Pingback: प्राइमरी मास्टर का करियर कैसे बनाये 2021 पूर्ण जानकारी -

  12. Pingback: राज्यसभा के मेंबर कैसे बने 2021 पूर्ण जानकारी -क्या हैं फायदे

  13. Pingback: जिलाधीश कैसे बनते हैं? how to become a Magistrate In Hindi

  14. Pingback: Sashastra Seema Bal (SSB) kaise bane 2021 Full detail in hindi

  15. Pingback: Graphics designer कैसे बने? Graphic designer kaise bnte hai?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *