Bank Manager kaise bane 2021 पूर्ण जानकारी । How to become a bank manager

नमस्कार पाठकों,

आज के समय में युवा लोग किसी न किसी प्रकार की एक अच्छी नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं। बेरोजगारी भारत में बड़ी समस्या है, लेकिन इसके लिए वाइट कोलर की जॉब प्राप्त करने की ही परम इच्छा भी इसका एक कारण है। वाइट कलर की जॉब में सभी सरकारी नौकरियां आती है और भी कई बड़ी नौकरीयां आती है जैसे कि बैंक मैनेजर, जिला कलेक्टर, डीएम, पीसीएस, इत्यादि।

आज के लेख में हम आपको इसी प्रकार की एक नौकरी के बारे में जानकारी देंगे। आज के लिए हम आपको बताएंगे कि आप Bank Manager kaise bane , और एक बैंक मैनेजर बनने के लिए आपको किन किन योग्यताओं की आवश्यकता होती है, किस प्रकार की शैक्षणिक योग्यता की आवश्यकता होती है, तथा आपको किस प्रकार की तैयारी करनी होती है, और अंत में हम आपको यह बताएंगे कि इसमें आपको मासिक तनख्वाह कितनी मिलती है।

तो चलिए शुरू करते हैं-

Bank Manager kaise bane

Bank Manager kaise bane

मित्रों, एक बैंक मेनेजर बनना बहुत ही मुश्किल काम होता है, लेकिन फिर भी लोग इस काम में अपनी सफलता प्राप्त करते हैं। 

  • बैंक मैनेजर बनने के लिए आपको सबसे पहले IBPS का एग्जाम पास करना होता है IBPS की फुल फॉर्म “इंस्टिट्यूट ऑफ़ बैंकिंग पर्सनल सिलेक्शन” होता है। इसके अंतर्गत बैंकिंग से संबंधित सवाल पूछे जाएंगे जो एक बैंक कर्मचारी को आने चाहिए।
  • यदि आप इस परीक्षा को पास कर लेते हैं तो भारत में स्थित तकरीबन 20 सरकारी बैंकों में आप आराम से नौकरी कर सकते हैं, और नौकरियों के काबिल बन सकते हैं।
  • इसके बाद में भी SBI  और IDBI बैंक में नौकरी करने के लिए आपको अलग से आयोजित करी गई प्रवेश परीक्षा को पास करना होता है।
  • जब आप IBPS का एग्जाम क्लियर कर लेते हैं, तब यदि किसी भी बैंक मैनेजर की पोस्ट पर वैकेंसी आती है तो उस पर आप आवेदन करके अपना आईबीपीएस सर्टिफिकेट दिखा सकते हैं। जहां पर आपको किसी डॉक्यूमेंट की आवश्यकता नहीं होगी और आप प्रवेश परीक्षा में सीधा बैठ पाएंगे।
  • प्रवेश परीक्षा को पास करने के बाद में आपके समक्ष लिखित परीक्षा आयोजित करी जाएगी। जिसे भी आपको पास करना होगा।
  • उसके बाद में आपको इंटरव्यू पास करना होगा और इंटरव्यू में यदि आपका सिलेक्शन हो जाता है तो आप बैंक मैनेजर के पद पर नौकरी करने के लिए तैयार हो सकते हैं।

बैंक मैनेजर बनने के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

एक आवेदक को बैंक मैनेजर के पद के लिए आवेदन करने के लिए विभिन्न प्रकार की एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया को पार करना होता है।

इसके बारे में विस्तार से बैंक मैनेजर की वैकेंसी के आवेदन पत्र में जान पाएंगे। लेकिन कुछ मुख्य एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया ऐसी होती है जो सभी बैंकों में समान रूप से मांगी जाती है। जैसे कि-

  • आवेदक का भारतीय नागरिक होना जरूरी है।
  • आवेदक को अपनी ग्रेजुएशन 60% मार्क्स के साथ में पास करना जरूरी होता है।
  • प्राइवेट बैंकों में यह 55% तक भी हो जाता है।
  • आवेदक एक बैंक मैनेजर के लिए मैनेजमेंट की शिक्षा सर्वोपरि होती है, अतः उसे एक एमबीए या फिर पीजीडीएम की डिग्री  का मालिक होना आवश्यक होता है। अर्थात आवेदक एमबीए पीजीडीएम किया हुआ होना चाहिए।
  • आवेदक को एकाउंटिंग संबंधित जानकारी होना जरूरी है।
  • अभी तक की उम्र सरकारी बैंकों में 20 साल तथा प्राइवेट बैंकों में 21 साल मिनिमम होना जरूरी है, और दोनों ही बैंकों में अधिकतम 30 वर्ष की आयु हो सकती है।

बैंक मैनेजर के परीक्षा की तैयारी कैसे करें

यदि आप बैंक मैनेजर की परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं तो आपके लिए एक बहुत ही आसान उपाय पहले से ही दिया गया है। जब भी कोई बैंक अपने बैंक में मैनेजर की पोस्ट के लिए वैकेंसी निकालता है तब वह बैंक इस नोटिफिकेशन में आपको यह जानकारी देता है कि परीक्षा में किस विषय से संबंधित सवाल पूछे जाएंगे, कितने सवाल पूछे जाएंगे, कितने नंबर की परीक्षा होगी, और आपको परीक्षा के बारे में सारी जानकारी दी जाएगी।

अगर एक तरीके से कहा जाए तो प्रश्नों के बारे में छोड़ कर के आप को एग्जाम के बारे में पूरी जानकारी पहले ही दे दी जाएगी।

और इस एग्जाम के पैटर्न को अच्छे से समझ करके उसकी तैयारी कर सकते हैं। यदि आप चाहे तो किसी कोचिंग इंस्टिट्यूट में भी इसकी तैयारी कर सकते हैं या फिर आप चाहे तो अपने घर बैठ कर के और यूट्यूब की सहायता से भी इसकी तैयारी कर सकते हैं। यह पढ़ने वाले व्यक्ति पर निर्भर करता है।

एग्जाम का पैटर्न

बैंक मैनेजर के एग्जाम का पैटर्न 3 तरीके से निर्धारित किया जाता  है।

प्रिलिमनरी एक्जाम, मेन एग्जाम, और इंटरव्यू।

  • प्रिलिमनरी एक्जाम में आपसे करंट अफेयर्स, इंग्लिश, जनरल नॉलेज, मैथ, क्वांटिटीव, एप्टिट्यूड, और रिजनिंग जैसे सवाल पूछे जाएंगे। जिनका आपको ऑप्शन के द्वारा जवाब देना होगा।
  • मुख्य परीक्षा में आपको लिखित में परीक्षा देनी होती है, जिसमें आप से कुछ सवाल पूछे जाते हैं जिसको आपको लिख करके उसके जवाब देने होते हैं।
  • अंत में इंटरव्यू के द्वारा आपकी पूरी पर्सनालिटी को चेक किया जाता है, और आपसे एक सीरियस कैंडिडेट के रूप में मिला जाता है, जो कि बैंक मैनेजर बनने के लिए काबिलियत रखता है। और यदि आप तीसरे चरण में अपना शत प्रतिशत देखकर के सेलेक्ट हो जाते हैं तो आप बैंक मैनेजर बन जाते हैं।

बैंक मैनेजर की मासिक तनख्वाह

एक बैंक मैनेजर की मासिक तनख्वाह बहुत ही ज्यादा अच्छी होती है। एक बैंक मैनेजर को हर महीने ₹20000 से लेकर के ₹60000 तक की मासिक तनख्वाह मिलती है, जिसे वह सीधे तौर पर हासिल कर सकता है, और उसमें किसी भी प्रकार की कोई कटौती नहीं होती।

इसके अलावा बैंक मैनेजर को और भी अन्य सरकारी सुविधाएं मिलती हैं, जो कि जल्दी हम सब कुल मिलाकर के देखें तो एक सरकारी बैंक के मैनेजर को 5,00,000 से ₹6,00,000 प्रति माह जितनी सुविधा मिल जाती है।

निष्कर्ष

तो आज के लिए हमने जाना कि बैंक मैनेजर कैसे बना जा सकता है, इसके लिए किस प्रकार की परीक्षा लगती है, आपको सबसे पहले क्या करना होता है, और बैंक मैनेजर के एग्जाम के लिए आप तैयारी कैसे कर सकते हैं, पढ़ाई कैसे कर सकते हैं, विषयों के बारे में कैसे जान सकते हैं। तथा अंत में अपने आप को यह बताया कि बैंक मैनेजर की सैलरी क्या होती है।

हम आशा करते हैं कि आप यह जान चुके होंगे कि बैंक मैनेजर बनने के लिए क्या करना होगा।

तो आज के लेख में हमने जाना की एक Bank Manager kaise bane तथा इसके लिए किन किन चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। अगर आप इस लेख से सम्बंधित कुछ और जानना चाहते है या हमे कोई सुझाव देना चाहते है तो हमे कमेंट करके जरूर बताये हमे आपके कमेंट का जवाब देने मे ख़ुशी होगी।

धन्यवाद

इसे भी पढ़े:-

Accountant में करियर कैसे बनाये

Software Engineer Kaise bane

Professional Photographer kaise bane

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *