डेटा साइंटिस्ट में करियर कैसे बनाये। २०२१ पूर्ण जानकारी

नमस्कार पाठकों,

इस आधुनिक युग में केवल वह जानकारी ही है जो व्यापक है और निरंतर बढ़ती रहती है। इस आधुनिक युग में जानकारी बहुत प्रकार की हो सकती है, किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान, जानवर, काम यह वे कुछ मुद्दे है जिन पर अधिकतर हर प्रकार की जानकारी मिलती है।

क्या आपने कभी सोचा है की इतनी जानकारी का लोग क्या करते है? इतनी जानकारी कैसे काम आती है और कैसे कोई इतनी बड़ी जानकारी को संभालता है या हासिल करता है। तो वह  डेटा साइंटिस्ट ही है जो इतना भारी-भरकाम काम करता है।

आज के हमारे इस लेख में आप यह जानकारी प्राप्त करेंगे की एक डाटा साइंटिस्ट कौन होता है, एक डेटा साइंटिस्ट क्या काम करता है, कैसे करता है, एक डेटा साइंटिस्ट कैसे बने और उसका भविष्य में क्या स्कोप है।

आज के लेख में हम इन सब बातों पर जानकारियां प्राप्त करेंगे।

तो चलिए शुरू करते है-

डेटा साइंटिस्ट कैसे बने

इसे भी पढ़ें :- Hacker kaise bane

इसे भी पढ़ें :- कैरम का चैंपियन कैसे बने

इसे भी पढ़ें :- Boxer कैसे बने

एक डेटा साइंटिस्ट कौन होता है

  • एक डाटा साइंटिस्ट वह व्यक्ति होता है जो विभिन्न प्रकार के उलझे हुए डाटा को कलेक्ट करके और उसका विश्लेषण करके, उस उलझी हुई और कच्ची जानकारी के टुकड़ों से एक ऐसी जानकारी निकालता है जो बहुत ही मूल्यवान होती है और वह जिस संगठन के लिए काम करे उस संगठन के वह जानकारी काम आ सके।
  • एक डाटा साइंटिस्ट विभिन्न प्रकार की असरंचित जानकारियों को एकत्रित करके फिर उनका विशेषण करता है। जानकारी हासिल करने के कई रस्ते हो सकते है। डाटा साइंस डाटा, सांख्यकी, और गणित का एक अनूठा संगम है।
  • डाटा साइंस में एक व्यक्ति डाटा एकत्रित करता है। फिर उस डाटा की स्टेटिस्टिक्स को समझता है और अपनी कैलकुलेशन करके वह जानकारी बनाता है जिसकी जरूरत बहुत ज्यादा होती है। एक टुकड़ों में बटीं जानकारी से एक बहुत सुदृढ़ जानकारी निकालने का काम एक डाटा साइंटिस्ट का होता है।

एक डाटा साइंटिस्ट क्या काम करता है

  • अगर मोटे मोटे शब्दों में खा जाए तो एक डाटा साइंटिस्ट अनियमित जानकारियों के समूह को नियमित बनाता है।
  • बाद में उस सारी जानकारी या इनफार्मेशन को एक सही ढंग से व्यवस्थित करता है जिससे उसका वह मतलब निकाला जा सके जिसके लिए उस इनफार्मेशन को सही ढंग से व्यवस्थित करा जा रहा है।
  • उसके बाद अपनी कैलकुलेशन और प्रेडिक्शन से वे जानकारियां एक सुनियोजित ढंग से तैयार करना और उसे डेटाबेस में संरक्षित किये जाने लायक बनाने का काम एक डाटा साइंटिस्ट का होता है।
  • एक डाटा साइंटिस्ट कोशिश करता है कि किसी न किसी प्रोग्रामिंग भाषा से या कोडिंग के तरीकों से वह इनफार्मेशन किसी भी तरह से निकाल सके जिसकी उसे जरूरत है।
  • एक डाटा साइंटिस्ट अपनी कोडिंग, प्रोग्रामिंग और भी कई तकनीकी जानकारियों की शक्ति से कही से भी आवश्यक जानकारी निकालने का काम करता है।

एक डाटा साइंटिस्ट कैसे बना जा सकता है

एक डाटा साइंटिस्ट बनने के लिए आप को काफी सारी चीजों का आना जरूरी है  और बहुत सारी योग्यताओं का आपमें समाहित होना जरूरी है।

  • आपका एक मान्यता प्राप्त संस्थान से डाटा साइंस के मैं सब्जेक्ट को लेकर कंप्यूटर साइंस से b।tech करना अनिवार्य है।
  • आपका बाद में कुछ सालों बाद जब आपकी b।tech पूरी हो जाये तो किसी भी छोटी मोटी कंपनी में डाटा साइंटिस्ट के तौर पर कार्यरत होना होगा।
  • अपने कार्य के दौरान आपको अपना सारा समय अपनी डाटा साइंस को सुधारने में देना होगा।
  • इसके बाद लगभग 6-7 सालों की मेहनत से आप अंत में एक डाटा साइंटिस्ट बन पायेंगे।
  • एक डाटा साइंटिस्ट बनने के लिए आपको कोडिंग और प्रोग्रामिंग दोनों आनी चाहिए।
  • एक डाटा साइंटिस्ट बनने के लिए मशीन लर्निंग, डाटा विजुअलाइजेशन, रिस्क मैनेजमेंट, इफेक्टिव कम्युनिकेशन, डाटा मीनिंग और बिग डाटा के साथ साथ क्लाउड टूल्स और डाटा वेयरहाउस की भी बहुत अच्छी जानकारी आपको होनी चाहिए।

डाटा साइंस का भविष्य में स्कोप क्या है

  • हम इसे आसानी से समझ सकते है की वह केवल और केवल जानकारी ही है जो आने वाले भविष्य और उससे भी आगे आने वाले भविष्य तक बढती रहेगी। इसी लिए लोगों को बहुत से प्रकार की जानकारियों की आवश्यकता भी होगी।
  • लोगों को, कंपनियों को ऐसे लोगों की आवश्यकता होगी जो उन्हें उनके लिए आवश्यक जानकारियाँ या इनफार्मेशन निकालकर दे सके।
  • आने वाले भविष्य में बढती आबादी के लिये ज्यादा डाटा मैनेजमेंट की जरूरत पड़ेगी।
  • इतने बड़े डाटा को संभालने के लिए बिग डाटा को समझना जरूरी होगा जो अपने आप में डाटा साइंस का एक हिस्सा है।
  • अगर सही तरीके से बताया जाए तो भविष्य में डाटा साइंस का बहुत ज्यादा स्कोप है। और यदि कोई व्यक्ति आज की तारीख में डाटा साइंटिस्ट बनने की कोशिश शुरू करता है तो वह बहुत ही अच्छा कदम ले रहा होता है जिसकी सराहना होनी चाहिए।
  • भारत जैसे विशाल जनसंख्या वाले देश में भी डाटा साइंस के मामले में बहुत ज्यादा कॉम्पिटिशन नहीं है जिसके चलते इस  फील्ड में करियर बनाना आज के समय में भविष्य की तुलना में ज्यादा आसान भी है।
  • ओवरआल अगर इन सब बातों को समझा जाए तो भविष्य में डाटा साइंस का बहुत महत्व है और बहुत स्कोप है।

एक डेटा साइंटिस्ट की तनख्वाह कितनी होती है

  • भारत में डाटा साइंटिस्ट थोड़ी कम मात्रा में है जिसके वजह से कंपनी को और इंडिविजुअल लोगों को डाटा साइंटिस्ट की बहुत जरूरत है।
  • एक 5 साल के एक्सपीरियंस वाले शख्स को कम से कम 60,000 – 70,000 रूपए की नौकरी आसानी से मिल जाती है।
  • लेकिन विदेशों में डाटा साइंटिस्ट अधिक मात्र में है जिसके वजह से वहा कॉम्पिटिशन भी ज्यादा है जिसके चलते वहा एक डाटा साइंटिस्ट की तनख्वाह 2  लाख भारतीय रुपयों से 3 आख भारतीय रुपयों तक प्रतिमाह की होती है।
  • यह एक अच्छी सैलरी है और यह नौकरी कभी भी बोर नहीं होने देती है।

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने डाटा साइंस के बारे में बहुत गंभीर और रोचक बाते जानी। आज के लेख में हमने जाना की डाटा साइंटिस्ट कौन होता है, क्या करता है, कैसे करता है, स्कोप क्या है, सैलरी क्या है और डेटा साइंटिस्ट कैसे बने। इस लेख से सम्बंधित अगर आप कुछ और जानना चाहते हैं या अपना कोई सुझाव देना चाहते है तो हमे कमेंट करके जरूर बताये हमे आपके सवाल का जवाब देना में ख़ुशी होंगी,

यदि आपको हमारे द्वारा प्रदत्त जानकारी पसंद आई तो कृपया इस जानकारी को जितना हो सके शेयर करे।

धन्यवाद

इसे भी पढ़ें :- निशानेबाज कैसे बने

इसे भी पढ़ें :- बिज़नस एनालिस्ट कैसे बने

इसे भी पढ़ें :- फ्रीलांसर पत्रकार कैसे बने

इसे भी पढ़ें :- फैशन डिज़ाइनर कैसे बने

2 thoughts on “डेटा साइंटिस्ट में करियर कैसे बनाये। २०२१ पूर्ण जानकारी”

  1. Pingback: स्पेस साइंस में करियर कैसे बनाये 2021 पूर्ण जानकारी Space Scientist kaise Bane - Hindygyan

  2. Pingback: Android App डेवलपर कैसे बने -

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *