Doctor कैसे बने 12 के बाद, Eligibility, Salary, future

नमस्कार पाठकों, आज के लेख में हम विस्तृत रूप में जानेंगे कि Doctor कैसे बने, किस प्रकार डॉक्टर बना जा सकता है या डॉक्टर बनने ने के लिए क्या-क्या करना पड़ता है? किन-किन कसौटियों पर खरा उतरना पड़ता है, क्या क्या मुश्किलें सामने आती है, डॉक्टर बनने के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया क्या होता है और वे कौन से काम होते है या कौन सी चीजें होती है जिन्हें डॉक्टर बनते समय ध्यान रखा जाता है।

पाठकों, यदि आपको हमारा लेख पसंद आये तो कृपया इसे अपने मित्रों व सगे सम्बन्धियों तक जरूर प्रसारित करे, शेयर करे, ताकि यह जरूरी जानकारी अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच सके।

तो चलिए, इस प्रक्रिया को एक दम शुरू से शुरू करते है…

इसे भी पढ़े:- बॉक्सिंग में करियर कैसे बनाये? 2021 पूरी जानकारी

इसे भी पढ़े:- प्राइमरी मास्टर का करियर कैसे बनाये – 2021 पूर्ण जानकारी

इसे भी पढ़े:- भारत का राष्ट्रपति कैसे बने-2021 पूर्ण जानकारी

इसे भी पढ़े:- राज्यसभा के मेंबर कैसे बने 2021 पूर्ण जानकारी

डॉक्टर कैसे बने

मानसिकता कैसे बनाये

सबसे पहले आपको एक मानसिकता जगानी पड़ेगी जिसमे आपको, अपने आपको यह समझाना पड़ेगा और विश्वास दिलाना पड़ेगा की आप डॉक्टर बन सकते है, उसके बाद आपको एक लक्ष्य तय करना है कि आपको क्यों एक डॉक्टर बनना है, और उसी लक्ष्य को साधने के लिए आपको पूरी मेहनत से प्रयास करना है।

डॉक्टर बनने के लिए पात्रता

निचे दिए बिंदुओं में आप जानेंगे कि डॉक्टर बनने के लिए क्या क्या पात्रताएं होती है…

• सबसे पहले आपको अपनी 10वीं क्लास को पास करना है,

• उसके बाद 11वीं कक्षा में आपको PCB ग्रुप चुनना है अथार्थ आप को भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, व जीव विज्ञान का विषय आप को चुनना है।

• स्मरण रखें, कि आपको 11वीं व 12वीं कक्षा को अच्छे से और मन लगा कर पढना है और जो भी पढ़े वह समझकर पढना है।

• उसके बाद आपको 12वीं कक्षा को कम से कम 50% अंकों से उत्तीर्ण करना होगा।

• उसके बाद आपको नीट NEET (National Eligibility cum Entrance Test) के लिए तैयारी करनी होगी। उसके बाद आपको NEET की परीक्षा पास करनी होती है।

• आपकी जानकारी के लिए यह जानना जरूरी है कि NEET आपके अंकों के अनुसार आपको रेंक देता है और उसी रेंक का अनुसरण करते हुए आपको मेडिकल कॉलेज मिलता है, जहा आप डॉक्टर बनने के लिए आगे की पढाई करेंगे।

यहाँ कॉलेज में आप के पास यह चुन ने का अधिकार होता है की आप MBBS (Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery ) करना चाहते हो या BDS(Bachelor of Dental Surgery) करना चाहते हो? आयुर्वेदिक विज्ञान के शिखर को समझना चाहते हो या होम्योपैथिक की पढाई करना चाहते हो।

अच्छे मेडिकल कॉलेज को हासिल करने के लिए या अच्छे मेडिकल कॉलेज में पढाई करने के लिए आपको NEET के एग्जाम में अच्छा रेंक लाना पड़ेगा, ताकि आपकी रेंक ज्यादा आये और आपको एक अच्छी मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिल सके।

डॉक्टर बनने मे कितना समय लगता हैं?


पाठकों, डॉक्टर की पढाई 5.5 साल की होती है, जिस में 4.5 वर्ष की केवल पढाई होती है और 1 वर्ष की इंटर्नशिप होती है जहा आपको आप की पढ़ी हुई चीजों के बारे में एक प्रैक्टिकल अनुभव दिया जाता है। जैसे कि किसी घाव को कैसे समझना है, किसी रोग को केसे दूर करना है, कौन सी दवाई किस तरीके से काम में ली जाएगी, एक बीमार शरीर का उपचार कैसे करना है, इन सब चीजों के बारे में आपको व्याख्यांकी रूप से आपकी इंटर्नशिप में बताया जायेगा।

डॉक्टर बनने का लिए फीस:-

कोई भी व्यक्ति डॉक्टर बनना चाहे या न चाहे लेकिन उसके मस्तिष्क में यह विचार आता ही है कि डॉक्टर बनने के लिए कितने ज्यादा पैसे लगते होंगे? कितना रूपया खर्च करना पड़ता होगा? तो यहाँ में आपको बताऊंगा की डॉक्टर बनने के लिए आपको कितना खर्च करना पड़ेगा और किस तरीके से खर्च करना पड़ेगा।

पाठकों, डॉक्टर बनने के लिए दो रास्ते होते है, एक तो गवर्नमेंट कॉलेज और एक प्राइवेट कॉलेज।

निश्चय ही दोनों तरीको के कॉलेज की फीस में जमीन और आसमान का फर्क होता है। यदि आप नीट का एग्जाम अच्छे से और एक बहुत ही अच्छी रेंक के साथ पास करते है तो आपको एक बहुत ही अच्छा सरकारी कॉलेज मिल जायेगा जहां आपको 5000 से लेकर के 30,000 रुपयों तक की फीस देनी होगी और आप एक टॉप क्लास के मेडिकल कॉलेज में पढ़ पाएंगे।

वहीँ अगर प्राइवेट कॉलेज की बात करी जाए तो वहां आपको 5,00,000 से लेकर के 30,00,000 रुपये तक की फीस देनी पड सकती है और यह भी कॉलेज और आपके मार्क्स पर ही निर्भर करता है

यह एक निश्चित वर्ग की पढाई है जिसके बारे में आपने जाना, लेकिन डॉक्टर की पढ़ाई केवल यहीं तक ही नहीं होती हैं, यदि आप चाहों तो अधिक और व्याख्याक्रित ज्ञान के लिए और आगे पढ़ सकते है। इसके आगे पोस्ट ग्रेजुएशन होता है जहाँ आपको MD-MS(Doctor in Medicine and Master in Surgery) की पढ़ाई करनी होती है।

इस पढ़ाई को करने की अवधि तीन वर्षों की होती है, जहां आप pediatrics, physiotherapy  ENT Surgeon, Orthopedic, Psychologist में स्पेशलिस्ट डॉक्टर भी बन सकते हों।

यदि आप अपनी पढ़ाई आगे और करना चाहें तो आप DM (Doctor of Medicine) भी बन सकते हो, इस पढाई को करने के बाद आप सुपर स्पेशलिस्ट बन सकते हो, जिसमे आप Cardiology, Neurology जैसे गहरे व कठिन विषयों पर महारत हासिल कर सकते हो, लेकिन DM की पढाई आपको MD-MS की तीन साल की पढाई के बाद ही करनी होती है, इससे पहले नहीं कर सकते है।

तो मित्रों यह पूरी प्रक्रिया होती है जहां आप डॉक्टर बन सकते हो। और इसी प्रक्रिया की पालना करते हुए आपको एक डॉक्टर के रूप में तैयार किया जाता है। और इसी तरीके से आप भारत वर्ष के एक बेहतरीन डॉक्टर बनते है जो भयंकर व्याधियों से लोगों के जीवन की रक्षा करते है। और इसी लिए डॉक्टर को भारत में और पूरी दुनिया में भगवान के बराबर माना जाता है जो जीवन की रक्षा करते है

हमें आशा है की आपको हमारा लेख पसंद आया होगा, आज के लेख में हमने जाना की हम किस प्रकार से डॉक्टर बन सकते है, डॉक्टर बनने की क्या प्रक्रिया होती है , किन-किन बातों का सावधानी पूर्वक ध्यान रखा जाता है, तथा किन परिस्थितियों में संयम रखकर डॉक्टर बनने की तैयारी करी जाती है।

यदि आपको हमारा लेख पसंद आया तो कृपया करके आप यह लेख अपने सगे सम्बन्धियों तक प्रसारित जरूर करे जिससे वे लोग भी इस महत्वपूर्ण जानकारी को पाने से छुट न जाये।

निष्कर्ष

हमने बताया Doctor कैसे बने और डॉक्टर से सम्बंधित बहुत से तथ्यों के बारे मे हमने इस आर्टिकल मे बताया हैं अगर इससे सम्बंधित आपके मन मे कोई सवाल हो या आप अपना कोई सुझाव देना चाहते है तो हमे कमेंट करके जरूर बताए हमे आपको रिप्लाई करने मे ख़ुशी होगी.

धन्यवाद

इसे भी पढ़ें:- Accountant कैसे बने

इसे भी पढ़ें:- Animator कैसे बने

FAQS

प्रश्न- doctor banne ke liye kitne percentage chahiye

उत्तर- 12 वीं कक्षा को कम से कम 50% अंकों से उत्तीर्ण करना होगा।

प्रश्न- दसवीं के बाद Doctor कैसे बने?

उत्तर- दसवीं के बाद डॉक्टर बनने के लिए आपको बारहवीं मे PCB (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, व जीव विज्ञान) लेना होगा और उसका बाद आप डॉक्टर का कोर्स कर सकते हैं.

प्रश्न- बिना डिग्री के Doctor कैसे बने?

उत्तर- बिना डिग्री के डॉक्टर बनने के लिए आपको किसी अच्छे डॉक्टर के अंडर काम करके प्रक्टिकली काम सीखना होगा लेकिन ऐसे आप किसी हॉस्पिटल मे जॉब नहीं कर सकते हैं क्युकी किसी हॉस्पिटल मे डॉक्टर बनने के लिए डिग्री का होना बहुत जरुरी होता हैं.

प्रश्न- जूनियर डॉक्टर कैसे बने?

उत्तर- जूनियर डॉक्टर बनने के लिए बहुत से कोर्स उपलब्ध हैं जिन्हे करके आपको हॉस्पिटल मे जूनियर डॉक्टर के रूप मे जॉब मिल जाती हैं.

प्रश्न- नई शिक्षा नीति में डॉक्टर कैसे बने?

उत्तर- नई शिक्षा नीति में डॉक्टर बनना बहुत आसान हो गया हैं इसमें मेहनत तो लगती हैं लेकिन कम समय मे आप डॉक्टर बन जाता हैं.

प्रश्न- प्राइवेट Doctor कैसे बने?

उत्तर- प्राइवेट डॉक्टर बनने के लिए भी आपको PCS (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, व जीव विज्ञान) के साथ बारहवीं पास करनी होगी और उसके बाद ही आप डॉक्टर का कोर्स कर सकते हैं और अपना हिसाब से चुनाव कर सकते है की आपको प्राइवेट सेक्टर मे करियर बनाना हैं या गवर्नमेंट सेक्टर मे जॉब करनी हैं.

प्रश्न- ग्रामीण Doctor कैसे बने?

उत्तर- ग्रामीण डॉक्टर बनने के लिए भी आपको PCB (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, व जीव विज्ञान) के साथ बारहवीं पास करनी होगी और उसके बाद ही आप डॉक्टर का कोर्स कर सकते हैं और अपना हिसाब से चुनाव कर सकते है की आपको ग्रामीण डॉक्टर बनना हैं किसी हॉस्पिटल मे जॉब करनी हैं.

प्रश्न- ट्वेल्थ के बाद Doctor कैसे बने?

उत्तर- ट्वेल्थ के बाद आपको नीट NEET (National Eligibility cum Entrance Test) के लिए तैयारी करनी होगी। उसके बाद आपको NEET की परीक्षा पास करनी होती है

प्रश्न- आर्ट सब्जेक्ट से Doctor कैसे बने?

आर्ट सब्जेक्ट से आप MBBS या कोई एक्सपर्ट डॉक्टर नहीं बन सकते हैं लेकिन आर्ट सब्जेक्ट से आप कुछ डॉक्टर से सम्बंधित कोर्स कर सकते हैं जिससे आप किसी हॉस्पिटल मे डॉक्टर के अंतर्गत काम कर सकते हैं.