Foreigh Language kaise seekha? Eligibility? Salary? Career? University?

welcome, words, greeting

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Ut elit tellus, luctus nec ullamcorper mattis, pulvinar dapibus leo.

Foreign Language opportunity in India? Eligibility? Salary? Career? University?

आज के समय में हमारे देश में जॉब को लेकर बहुत Competition चल रहा है लोगों को समझ नहीं आता है की किस  फील्ड में अपना करियर बनाएं बहुत से लोग गवर्नमेंट सेक्टर में अपना फ्यूचर ढूंढते हैं और बहुत से लोग प्राइवेट सेक्टर में अपना फ्यूचर बनाने में लगे हुए हैं लेकिन इस आर्टिकल के माध्यम से आपको Foreign Language में Opportunity, eligibility, Salary और इस Field में करियर बनाने के बारे में बताया गया है! 

Foreign Language Opportunity in india

फॉरेन लैंग्वेज विदेशों में ही नहीं बल्कि भारत में भी बोली जाती है बहुत सारी विदेशी कंपनियां आज के समय में भारत में अपना कारोबार चला रही हैं इसके लिए  उन्हें अपनी भाषा को हिंदी या इंग्लिश में ट्रांसलेट करने  वाले व्यक्ति की आवश्यकता होती है, और कुछ कंपनियां भारत से ही विदेशी भाषा बोलने वाले Employees को Hire करती है! भारतीय कंपनियां भी अपने ब्रांड को दूसरे देशों में सप्लाई करती है तो इसके लिए दूसरे देशों से बातचीत करने के लिए उस देश की प्राथमिक भाषा को समझने व उस भाषा को हिंदी या इंग्लिश में ट्रांसलेट करने वाले व्यक्ति की आवश्यकता होती है!  

इसे भी पढ़ें:-  Accountant Ksa bnta h in 2021 Full Guide

इसे भी पढ़ें:-  Web developer ksa bnte, career in India

Eligibility For Learning Foreign Language

विदेशी भाषा को सीखने के लिए कम से कम आपका 10th पास होना जरूरी है और अब यदि आप 12th या 12th के बाद की डिग्री किसी Foreign Language के साथ करते हैं तो इसका फायदा आपको  आपके जॉब प्रोफाइल को बेहतर बनाने में मिलेगा!

India में बहुत सारे Institute व University foreign Language सिखाती है ! जिसमें 3 तरह के कोर्स होते हैं पहला डिग्री कोर्स व दूसरा डिप्लोमा कोर्स और तीसरा कोर्स सर्टिफिकेट कोर्स है यह तीनों कोर्स कॉलेज या इंस्टिट्यूट द्वारा कराए जाते हैं व इनकी समय अवधि और पात्रता ( Elegibility ) कॉलेज व इंस्टिट्यूट द्वारा तय किया जाता है! आमतौर पर कॉलेज व इंस्टिट्यूट हायर सेकेंडरी को ही प्राथमिकता देते हैं!

How to learn foreign language

आज के समय में बहुत सारी ऑनलाइन और ऑफलाइन इंस्टिट्यूट है जो विदेशी भाषा को सिखाते हैं फिर भी लोग Offline Classes  को प्राथमिकता देते हैं जिसका बड़ी वजह यह है की ऑनलाइन क्लासेज के दौरान आप अपने डाउट्स को क्लियर नहीं कर पाते हैं जबकि ऑफलाइन क्लासेस में अध्यापक हमारे सामने होते हैं तो हम अपने डाउट्स वेदर  बेहतर तरीके से समझ सकते हैं यदि आप  दूसरी भाषा में प्रोफेशनल ट्रांसलेटर और स्पीकर बनना चाहते हैं तो आपको ऑफलाइन कोर्स करना चाहिए और यदि आप  नॉर्मल बात करने के लिए या बातों को समझने के लिए सीखना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन भी सीख सकते हैं जो 6 महीने से 1 साल तक का होता है !

Scope in Foreign Language

विदेशी भाषा को सीखने का प्रचलन भारत में बढ़ने लगा है जिसके कारण हमारे देश में बहुत सारे इंस्टिट्यूट और कॉलेज विदेशी भाषाओं को सिखाते हैं औरप्लेसमेंट भी कराते हैं कुछ समय का एक्सपीरियंस लेने के बाद आप बहुत से फील्ड में आसानी से जॉब ले सकते हैं इस फील्ड में  इतना कंपटीशन नहीं है जितना आजकल सरकारी नौकरी को लेकर है इस फील्ड में आप बहुत सेक्टर है जिन्हें आप आसानी से प्राप्त कर सकते हैं और इनकम कर सकते हैं,

Freelancing sector:- 

freelancing sector मेंभी विदेशी भाषा को सीखने के बाद बहुत सारे विकल्प उपलब्ध है जैसे  जिस भाषा में आपको अच्छा ज्ञान है उसकी ऑनलाइन क्लासेस दे कर भी आप पैसे कमा सकते हैं

content writing से भी आप earning कर सकते हैं जैसे बहुत सारी ऑनलाइन freelancing वाली वेबसाइट है जहां आप खुद को रजिस्टर कर  सकते हैं और लोगों के द्वारा आपको काम दिया जाता है जिसे आप पार्ट टाइम में करके  भी पैसे कमा सकते हैं.

Embassy:-

विदेशी भाषा को सीखने के बाद आपको  जिस देश की भाषा आपने सीखी है उस देश की एंबेसी मे भी जॉब मिल सकती है जहां आपको काफी अच्छी सैलरी मिल जाती है!

Private Sector 

किसी भी विदेशी भाषा को सीखने के बाद जिसकी मार्केट में डिमांड हो, उसके द्वारा आप प्राइवेट सेक्टर में बहुत सारी ऐसी जगह है जहां आप अपना करियर बना सकते हैं जैसे टूर एंड ट्रैवल, एयरलाइंस, न्यूज़ चैनल, स्कूल/ इंस्टिट्यूट, कॉल सेंटर आदि! 

Company Sector

आज के समय में बहुत सारी ऐसी कंपनियां है जो विदेशों में अपने ब्रांड के साथ डील करते हैं जिसके लिए कंपनी को ट्रांसलेटर की आवश्यकता होती है और बहुत सारी MNC कंपनी भी दूसरे देशों में डील करने के लिए ट्रांसलेटर  जो हिंदी व इंग्लिश के अलावा उस देश की भाषा भी बोल सकें जिस देश के साथ कंपनी डील कर रही है इस तरह की जॉब मैं भी आप अपना करियर बना सकते हैं और अच्छी सैलरी प्राप्त कर सकते हैं!

Fees for Learning Foreign Language

फॉरेन लैंग्वेज सीखने के लिए फीस की बात करें तो यह पूरी तरह कॉलेज और इंस्टिट्यूट पर निर्भर करता है! कुछ इंस्टिट्यूट 5000 से 10000 में भी विदेशी भाषा के कोर्स करा देते हैं! जबकि किसी भाषा के साथ डिग्री करना थोड़ा सा महंगा हो सकता है कुछ कॉलेज इसके लिए लगभग एक लाख सालाना तक का चार्ज भी करते हैं! 

Ye bhi Padhe:-  Accountant Ksa bnta h in 2021 Full Guide

Ye bhi padhe:-  Web developer ksa bnte, career in India

 

Salary Package in Foreign Language

भारत देश में विदेशी भाषा का प्रचलन बढ़ता जा रहा है जिसके कारण इस फील्ड में करियर और सैलरी  की कोई कमी नहीं है इसका सबसे बड़ा कारण यह है की विदेशी कंपनियां भारत में काम कर रही है और भारतीय कंपनियां अपने प्रोडक्ट का विदेशों में डील कर रही है.यदि हम स्कूल कॉल सेंटर किसी इंस्टिट्यूट की बात करें तो इसमें आपको 15000 से 20000 तक की सैलरी मिल जाती है 

Courses for Foreign Language

Graduate/Postgraduate programmes

Foreign language diploma courses

Foreign language advance diploma courses

Foreign language certificate course

Ph.D Course in foreign language course

Foreign Language

·        French

·        German

·        Arabic

·        Japanese

·        Chines

·        Spanish

·        Italian

·        Russian

·        Korean

Foreign Language learning university/institute

किसी भी विदेशी भाषा को सीखने के लिए आप इंस्टिट्यूट ज्वाइन कर सकते हैं या आप कॉलेज डिग्री कर सकते हैं जिनमें से कुछ कॉलेज के नाम नीचे दिए हुए हैं!

Punjab University, chandigarh

   Delhi University, delhi

Jawaharlal Nehru university, New Delhi

Kurushetra University, Kurushetra

Guru Nanak dev university, Amritsar Punjab       

Symbiosis institute of foreign language and Indian language, pune.

School of distance education,

Mahatma Gandhi university

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *