Pilot कैसे बने 2021 पूर्ण जानकारी। How to Become a Pilot In Hindi

नमस्कार पाठकों, हर इंसान बचपन में कुछ सपने देखता है जिन्हें वह पूरा करने की कोशिश भी करता है, उसी तरह बहुत से लोगो का बचपन का एक सपना “हवा में प्लेन उड़ाने” का भी होता है, आज के लेख में हम जानेंगे की भारत में Pilot कैसे बने।

आज के लेख में हम जानेंगे कि पायलट बनने के लिए उम्र, क्वालिफिकेशन, मेडिकल बाधाओं, एडमिशन कहा लेना होता है, कब लेना होता है, ट्रेनिंग कहां चलती है, ट्रेनिंग का समय क्या होता है, ट्रेनिंग की फीस क्या होती है, ट्रेनिंग में क्या क्या सिखाया जाता है और भी बहुत कुछ आप इस लेख के माध्यम से जान पाएंगे।

मित्रों, शुरू करने से पहले आपसे नम्र निवेदन है कि यदि आपको यह लेख पसंद आये तो कृपया इस लेख को अपने मित्रों व सगे-सम्बन्धियों तक जरूर शेयर करे ताकि यह जानकारी उन तक भी पहुंच पाए।

तो चलिए शुरू करते है…

पायलट साधारणतया दो प्रकार के होते है, एक तो मिलिट्री पायलट और एक कमर्शियल पायलट। मिलिट्री पायलट वें होते है जो भारतीय वायु सेना या भारतीय थल सेना के लिए पायलट का काम करते है और भारी भरकम लड़ाकू विमान उड़ाते है, और कमर्शियल पायलट वें होते है जो सिविल एयरलाइन या प्राइवेट एयरलाइन को उड़ाते है।

आज हम कमर्शियल पायलट के बारे में जानेंगे।

इसे भी पढ़े:- Doctor कैसे बने?

इसे भी पढ़े:- फैशन डिज़ाइनर कैसे बने?

Pilot kaise bane

योग्यतायें क्या होनी चाहिए

  • सबसे पहले तो आपको भारत का नागरिक होना जरूरी है।
  • साधारणतया जितने भी प्राइवेट और सिविल एयरलाइन्स है, उनमे पायलट बनने के लिए उम्र की सीमा 18-32 वर्ष की होती है।
  • आँखों की दृष्टि सीमा 6/6 होना जरूरी है, यदि आपकी दृष्टी क्षमता इतनी नहीं है और आप लेंस लगाना चाहते है तो आप जरूर काम में ले सकते है यह परमिटेड है।
  • आप वर्णान्ध (कलर ब्लाइंड) नहीं हो सकते।
  • यदि अपने 11वीं व 12वीं PCM से करी है तो आपके PCM के साथ इंग्लिश में भी कम से कम 55% अंक लाना अनिवार्य है।
  • यदि अपने आर्ट्स या कॉमर्स सब्जेक्ट लिया है तो आपके पास इंग्लिश तो होगा ही, उसमे आपको 55% मार्क्स लाना अनिवार्य है तह उसके बाद आप NIOS(नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ ओपन स्कूल) के जरिये फिजिक्स और मैथ्स की पढाई घर बैठे कर सकते है, और दोनों सब्जेक्ट में आपको कम से कम 55% अंक लाना अनिवार्य है।

पायलट बनने के लिए एडमिशन कहां लें?

  • यदि आप 12 वीं के बाद पायलट का कोर्स करना चाहते है तो आपको किसी भी DGCA (DGCA- Directorate General Civil Aviation) द्वारा मान्यता प्राप्त, एक फ्लाइंग स्कूल से आपको ट्रेनिंग लेनी होगी, जिसके लिए आपको एक एंट्रेंस एग्जाम पास करना होगा और वह एंट्रेंस एग्जाम IGRUA(इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी) कंडक्ट करेगी।
  • IGRUA का एक लिखित टेस्ट पास करना पड़ेगा, उस टेस्ट में इंग्लिश, मैथ, फिजिक्स, सामान्य ज्ञान, और रीजनिंग जैसे सन्दर्भों से प्रश्न पूछे जायेंगे।
  • उसके बाद आपका इंटरव्यू होगा, जिसमें Pilot Aptitude Test/Psychometric Test के द्वारा आपका परिक्षण किया जायेगा, और जो इंटरव्यू में पास होंगे उनका बाद में मेडिकल टेस्ट किया जायेगा।
  • उसके पश्चात् आपको अपने लिए एक फ्लाइंग स्कूल का चयन करना है पर याद रखे, फ्लाइंग स्कूल वही होना चाहिए जो DGCA द्वारा मान्यता प्राप्त हो। इसकी जानकारी लेने के लिए आप DGCA.nic.in इस वेबसाइट पर जानकारी देख सकते है इस वेबसाइट पर बहुत सी फ्लाइंग स्कूल को मान्यता दी हुई है, उन्ही में से आपको एक चुनना है।
  • फ्लाइंग स्कूल की ट्रेनिंग साधारणतया 1.5 से 2 वर्षों तक चलती है।

फ्लाइंग स्कूल में क्या सिखाया जाता है?

  • फ्लाइंग स्कूल में आपकी थ्योरी और प्रैक्टिकल की क्लास होगी, थ्योरी में आपको मैट्रोलोजी के बारे में सब कुछ पढाया जायेगा, प्लेन के सिस्टम के बारे में पढ़ाया जायेगा, पूरे प्लेन की स्टडी करवाई जाएगी, एयर नेविगेशन और प्लेन हैंडलिंग के बारे में पूरा विस्तार से समझाया जायेगा।
  • प्रैक्टिकल में आपको “प्लेन उड़ना सिखाया जायेगा” लेकिन इसके भी तीन चरण है।
  • सबसे पहले जैसे ही आप फ्लाइंग स्कूल में एडमिशन लेते है आपको SPL(Student Pilot Licence) मिल जाता है, जिसका मतलब है की आप एक प्लेन के कॉकपिट में बैठकर उसे एक विद्यार्थी के टूर पर उड़ा सकते है।
  • जैसे ही आप अपने पहले 60 उड़ान घंटे पूरे करते है तो आपको PPL(Private Pilot Licence) मिल जाता है।
  • और जैसे ही आप अपने 210 उड़ान घंटे पूरे करते है तब आपको CPL(Commercial Pilot Licence) मिल जाता है, जिसके लिए अपने फ्लाइंग स्क्चूल में दाखिला लिया था।
  • यदि आपके पास में CPL है तो आप किसी भी प्राइवेट या कमर्शियल फ्लाइट को उड़ाने या पायलट के तौर पर किसी भी एयरलाइन्स में काम करने के लिए योग्य हो जाते है।

पायलट बनने के लिए प्रमुख संस्थान

Indira Gandhi Rashtriya Uran Academy, Rae Bareilli

CAE Oxford, Gondia, Madhya Pradesh

Chimes Aviation academy, Dhana, Sagar, Madhya Pradesh

Carver Aviation Academy, Baramati, Maharashtra

GATI- Govt. Aviation training Institute, Bhubaneswar, Orissa

Orient Flight School, Pondicherry (Puducherry)

Ahmedabad Aviation & Aeronautics-AAA-Ahmedabad

RG Aviation, Hyderabad

AP Aviation academy, Hyderabad

Fly tech aviation academy, Hyderabad

फीस कितनी होती है?

  • पायलट बनने के लिए फीस की बात करे तो इस 1.5 से 2 साल के कोर्स में लगने वाली फीस 30 लाख रुपये हो सकती है, जी यह फीस बिलकुल ज्यादा है इसलिए सभी लोग इस कोर्स को नहीं कर सकते क्युकी ये बहुत ही महंगा कोर्स हैं।
  • लेकिन जब आप इसमें अपना करियर बना लेता है तो पायलट के तौर पर नौकरी करके आप अपने द्वारा लगाये गए पैसे को 1.5 से 2 साल में वापस ला सकते हैं और इसमें आपके करियर को बहुत ही अच्छी उड़ान भी मिल जाती हैं।

नौकरी कैसे मिलेगी?

  • समय समय पर अलग अलग एयरलाइन्स पायलट्स के लिए वेकेंसी निकलती है तो जब भी कोई वेकेंसी निकले, आपको वहा अप्लाई करना है और इंटरव्यू देने जाना है।
  • इंटरव्यू के दौरान आपको एक टाइप टेस्टिंग ट्रेनिंग करनी होगी जहाँ आपको उस एयरलाइन्स का प्लेन उड़ने की ट्रेनिंग लेनी होगी उसके लिए फिर से आपको तक़रीबन 25-30 लाख रुपये देने होंगे।
  • अगर पूरी रकम मिला ली जाये तो आपके CPL का लाइसेंस लेने से लेकर एक जॉब मिलने के सफ़र में आपको लगभग 60 लाख रुपये खर्च करने पड सकते है।

एक दूसरा तरीका भी है

हर एयरलाइन्स अपनी अलग से “ज्वाइन कैडेट पायलट प्रोग्राम” करवाती है जिसमे 12वीं पास करने के बाद आप इस प्रोग्राम को ज्वाइन कर सकते हो, जिसके बाद आपको इस प्रोग्राम के अंतर्गत, वह विशेष एयरलाइन प्लेन उड़ना सिखाती है, और इसमें एक फायदा होता है की जैसे ही आपकी ट्रेनिंग पूरी होती है वही एयरलाइन्स आपको जॉब ऑफर कर देती है, और ट्रेनिंग पूरी करते ही आपको CPL के साथ साथ जॉब भी मिल जाती है।

इस तरीके में आपको जॉब के लिए इंतज़ार नहीं करना पड़ता है लेकिन इस तरीके में आपके लगभग 80 लाख रुपये का खर्च आता है लेकिन आपको जॉब के लिए इंतज़ार नहीं करना पड़ता है। 

कमर्शियल पायलट की सैलरी क्या होती है?

जब आप किसी एयरलाइन में पायलट के तौर पर ज्वाइन करते हो तो जूनियर फर्स्ट पायलट के तौर पर आप की शुरूआती सैलरी लगभग 50,000/- रुपये होती है। थोड़े समय बाद ही आपका प्रमोशन हो जाता है और आप फर्स्ट पायलट पर प्रमोट करे जाते है जिसमे आपकी सैलरी लगभग 2,00,000/- रुपये होती है और कुछ समय बाद जब आप प्रमोट होकर कप्तान बन जाते है तो पूरा प्लेन आपके कंट्रोल में होता है और आपकी सैलरी 6,00,000-7,00,000/- रुपये होती है।

तो इन सब तरीकों से आप एक कमर्शियल पायलट बन सकते है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने कमर्शियल पायलट के बारे में बताया है की Pilot कैसे बने, पायलट सैलरी क्या होती है, कैसे Pilot के करियर की शुरुआत होती है, कौन कर सकता है और इसमें हमने इंडिया में पायलट बनने के लिए प्रमुख संस्थान के नाम भी बताए हैं जो बहुत ही फेमस संस्थान हैं इंडिया में अगर आप पायलट के बारे में कुछ और भी जानना चाहते हैं तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं हम आपका रिप्लाई जरूर करेंगे.

मित्रों, यदि आपको इस लेख की जानकारी अच्छी लगी तो कृपया इसे अपने मित्रों व सगे सम्बन्धियों तक जरूर शेयर करें।

धन्यवाद

इसे भी पढ़ें:- Accountant कैसे बने?

इसे भी पढ़ें:- Web developer कैसे बने?

FAQS

प्रश्न:- क्या पायलटों को आरक्षण मिलता है?

उत्तर:- कोई भी एयरलाइन ऐसा दावा नहीं करती हैं!

प्रश्न:- पायलट ऑफिसर का काम क्या है?

उत्तर:- पायलट ऑफिसर का काम पायलट को अपने कंट्रोल में रखना होता हैं!

प्रश्न:- Commercial Pilot बनाने के लिए क्या करना चाहिए?

उत्तर:- PCM से बारहवीं पास होगी और IGRUA का एक लिखित टेस्ट पास करना पड़ेगा!

प्रश्न:- ek airline mai kitne pilots hote hain

उत्तर:- एक एयरलाइन में २ पायलट होते हैं क्युकी अगर किसी एक पायलट को कोई समस्या हो जाए तो दूसरा पायलट एयरलाइन को संभाल सके!

3 thoughts on “Pilot कैसे बने 2021 पूर्ण जानकारी। How to Become a Pilot In Hindi”

  1. Pingback: बिज़नस एनालिस्ट कैसे बने? How to become a Business Analyst -

  2. Pingback: Animator कैसे बने । सुरुवात कैसे करे । Course, Salary, Future?

  3. Pingback: निशानेबाजी में करियर कैसे बनाये - 2021 पूर्ण जानकारी? निशानेबाज कैसे बने

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *