Vakil kaise bane पूर्ण जानकारी । How to become a Lawyer In 2021

नमस्कार साथियो

बचपन में जब अध्यापक हमसे पूछते थे कि बेटा बताओ बड़े होकर क्या बनोगे तो हम सभी अपनी इच्छा के अनुसार बताते थे कोई कहता था मैं बड़ा होकर डॉक्टर बनूंगा कोई कहता था मैं इंजीनियर बनुगा  कोई कहता था मैं बड़ा होकर वकील बनूंगा। क्योंकि हमारे समाज में डॉक्टर, इंजीनियर, अध्यापक और वकील को सम्मान की नजर से देखा जाता है इसलिए हर किसी की इच्छा यही बनने की होती है।

आज की इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आप किस तरीके से वकील बन सकते हैं, वकील बनने के लिए आपको कौन-कौन सी पढ़ाई करनी होती है। इसलिए इसको शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़े इसमें हमने आपको संपूर्ण जानकारी बताई है जिसको जानकर आपको पता चल जाएगा की Vakil kaise bane

Vakil kaise bane

वकील बनने के लिए कौन – कौन सी योग्यता होना आवश्यक है? :

यदि आप वकील की पढ़ाई करना चाहते हैं या फिर अन्य किसी की भी इनको करने से पहले सबसे पहले आपके पास एक शैक्षिक योग्यता होना अनिवार्य है तभी जाकर आप यह पढ़ाई आगे कर सकते हैं। वकील बनने के लिए आपको कम से कम नीचे दिए गए मापदंडों का पालन करना आवश्यक है ।

(1) यदि आप वकालत की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आप कम से कम 12 वीं पास होना आवश्यक है। 12वीं आप किसी भी स्क्रीन से पास आउट हो यह निर्भर नहीं करता है लेकिन आपके बारे में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स होना अनिवार्य है। तभी आप लोग कॉलेज में एडमिशन पाने के योग्य होते हैं अगर आप 12वीं के बाद वकालत की पढ़ाई करना चाहते हैं तो यह कुल 5 वर्षों की अवधि में होती है।

(2) यदि आप ग्रेजुएशन के बाद वकालत की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आपका  बीए, बीएससी बीकॉम, किसी भी स्ट्रीम में ग्रेजुएट होना अनिवार्य है और आपके ग्रेजुएशन में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स होना अनिवार्य है और ग्रेजुएशन के बाद कुल 3 साल का वकालत का कोर्स होता है।

वकील कैसे बने? (Vakil kaise bane)

वकील बनने के लिए आपको (LLB) का कोर्स करना अनिवार्य है LLB COURSE क्या होता है इसकी जानकारी हम लेख में आगे देंगे इससे पहले हम आपको वकील बनने के स्टेप बाय स्टेप तरीके बता रहे हैं।

(1)12 वी कक्षा की पढ़ाई पूरी करें

वकालत की पढ़ाई करने के लिए सबसे पहले आपका  12वीं किसी भी स्ट्रीम से पास होना अनिवार्य है जब 12वीं पास आप किसी भी स्ट्रीम से कर लेते हैं तो आप लॉ कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए योग्य हो जाते हैं। आपके 12वीं में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स होना अनिवार्य है और आपकी आयु कम से कम 20 वर्षीय होनी चाहिए 20 वर्ष से अधिक आपकी उम्र नहीं होनी चाहिए नहीं आप इसके लिए योग्य नहीं है।

(2) लॉ कॉलेज में एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम देना

जब आप 12वीं की पढ़ाई पूरी कर लेते हैं उसके बाद आपको लॉ कॉलेज में एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम देना होता है। भारत में ऑल इंडिया में (CLAT) यानि common Law Admission Test देना पड़ता है और रैंक के हिसाब से आपको लॉ कॉलेज में एडमिशन मिलता है। जब आपका लॉ कॉलेज में एडमिशन हो जाता है उसके बाद आपको 5 साल तक पढ़ाई करनी पड़ती है। एंट्रेंस एग्जाम के अलावा भी आपका एक कॉमन टेस्ट होता है जिसमें आपसे रिजनिंग, english, गणित, और जनरल अवेयरनेस से प्रश्न पूछे जाते हैं जिसकी तैयारी आपको अच्छे से करनी होती है।

यदि आप ग्रेजुएशन के बाद वकील बनना चाहते हैं तो आपको ग्रेजुएशन में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स होना अनिवार्य है ग्रेजुएशन के बाद आपको CLAT का एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है और फिर आपको 3 वर्ष की अवधि के लिए एलएलबी की पढ़ाई करनी पड़ती है।

(3) लॉ पढ़ाई के बाद इंटर्नशिप करना आवश्यक है

जब हम कोई भी पढ़ाई कर लेते हैं तो उसका निचोड़ निकालने के लिए हमें इंटर्नशिप करना बहुत आवश्यक है, इससे यह फायदा होता है कि हमें नए-नए कोर्ट और कचहरी कि मामले के बारे में जानने को मिलता है और साथ ही अपने साथी वकीलों से सीखने को भी कुछ ना कुछ मिलता है।

(4) स्टेट बार काउंसिल में खुद को एनरोल  करना

इंटर्नशिप करने के पश्चात आपको स्वयं को स्टेट बार काउंसिल में एनरोल  करना आवश्यक है एनरोल  होने के बाद आपको AIBE(all india baar examination) को क्लियर करना होगा। यह एग्जाम बार काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा ऑर्गेनाइज किया जाता है। यह ऑर्गेनाइजेशन आपको सर्टिफिकेट भी प्रदान करता है।  इस तरह आपके एक वकील बनने की जर्नी  समाप्त हो जाती है अब आपके पास प्रैक्टिस का विकल्प रहता है। आप जितनी अधिक प्रैक्टिस करते हैं उतने ही अपने स्वयं में निखार लेकर आते हैं और एक अच्छे वकील के तौर पर स्वयं को लोगों के सामने प्रदर्शित करते हैं।

यदि आप एलएलबी कोर्स के बाद LLM का कोर्स करना चाहते हैं तो कर सकते हैं यह कोर्स मास्टर इन लॉ का होता है। अब हम थोड़ा जान लेते हैं कि एलएलबी क्या होती है?

LLB course क्या है?

LLB का full फॉर्म Bachelor of Legislative Law होती है, इसको शाब्दिक भाषा में बैचलर ऑफ Law भी कहते हैं।

आप एलएलबी की पढ़ाई 12वीं करने के बाद कर सकते हैं इसके लिए आपके बारे में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स होना अनिवार्य है। LLB के कोर्स में आपको भारतीय कानून का संपूर्ण विवरण समझाया जाता है, भारतीय कानून में चलने वाली सभी धाराओं की जानकारी आपको दी जाती है। यदि आप कानून के बारे में जानना चाहते हैं और क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो एलएलबी आपके लिए एक अच्छा विकल्प है।

जब आप वकील की पढ़ाई पूरी कर लेते हैं तो उसके बाद आप जज बनने के लायक भी हो जाते हैं लेकिन उसके लिए आपको वकील से थोड़ी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है।

हमारे भारतवर्ष में एलएलबी के 2 तरीके के कोर्स किए जाते हैं एक आप 12वीं के बाद कर सकते हैं दूसरा आप ग्रेजुएशन के बाद करते हैं। यदि आप 12वीं के बाद एलएलबी की पढ़ाई करना चाहते हैं तो यह कोर्स आपके लिए 5 साल का होगा, लेकिन यदि आप ग्रेजुएशन के बाद एलएलबी की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आपको 3 साल का कोर्स करना होगा ।

निष्कर्ष

तो आज के लेख में हमने जाना की एक Vakil kaise bane तथा इसके लिए किन किन चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। अगर आप इस लेख से सम्बंधित कुछ और जानना चाहते है या हमे कोई सुझाव देना चाहते है तो हमे कमेंट करके जरूर बताये हमे आपके कमेंट का जवाब देने मे ख़ुशी होगी ।

अगर आपको हमारा लेख पसंद आया तो आप इसे अपने मित्रों तक जरूर शेयर करे।

धन्यवाद

इसे भी पढ़े:-

गेमिंग में कैरियर कैसे बनाएं

निशानेबाजी में करियर कैसे बनाये

Accountant में करियर कैसे बनाये

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *